वाराणसी हादसा: राहत बचाव के साथ सरकार ने की आनन फानन कार्रवाई

वाराणसी: उत्तरप्रदेश के शहर वाराणसी में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने से 18 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा और 3 लोग मलबे में डाब कर घायल हो गए. अब NDFR की सात टीम राहत और बचाव काम में लगी हुई है. इस हादसे में यूपी सरकार ने कार्रवाई करते हुए 4 अधिकारियों को सस्‍पेंड किया है. इसमें चीफ प्रोजेक्टर मैनेजर एचसी तिवारी, प्रोजेक्‍ट मैनेजर के.आर सूदन, असिस्‍टेंट इंजीनियर राजेश सिंह और इंजीनियर लालचंद को सस्‍पेंड किया गया है.इस हादसे में सस्‍पेंड किए गए प्रोजेक्ट मैनेजर के. आर. सूदन ने कहा कि, 'इसमें कुछ गलती नहीं हुई है. काम खत्‍म करने का प्रेशर था. हम बहुत परेशान हैं अभी.' 
हादसे के बाद उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा, 'हादसे की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है, जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा. जांच कमेटी 15 दिन में रिपोर्ट सौंपेगी.' केशव प्रसाद मौर्य ने अस्पताल जाकर हादसे में घायल लोगों का भी हाल-चाल लिया.

सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है और हरसंभव मदद का भरोसा दिया है. हादसे के बाद देर रात सीएम योगी लखनऊ से बनारस पहुंचे और यहां अस्पताल में घायल लोगों से मुलाकात की, उनका हाल जाना. योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान करने के साथ-साथ जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी बनाने को कहा है. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र ने हुई इस घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट कर बताया कि उन्होनें स्थानीय अधिकारियों से बात कर पीड़ितों को हर मुमकिन मदद मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं. 

हादसे पर दुःख व्यक्त करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, 'वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से 18 लोगों की हुई मृत्यु से आहत हूं. बहुत सारे लोग घायल हुए हैं और कई अभी भी मलबे के तले दबे हैं, जिनमें बच्चे भी शामिल हैं. स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि दुर्घटना से प्रभावित परिवारों की हर संभव मदद करें.' वही यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, वाराणसी में पुल के हादसे में लोगों को बचाने के लिए मैं वहाँ के अपने सभी कार्यकर्ताओं से अपील करता हूँ कि वे बचाव दल के साथ पूरा सहयोग करें और सरकार से ये अपेक्षा करता हूँ कि वो केवल मुआवज़ा देकर अपनी ज़िम्मेदारी से नहीं भागेगी बल्कि पूरी ईमानदारी से जाँच करवायेगी.


 अखि‍लेश यादव ने ट्वीट किया, 'वाराणसी में पुल के हादसे में लोगों को बचाने के लिए मैं वहां के अपने सभी कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वे बचाव दल के साथ पूरा सहयोग करें. साथ ही सरकार से ये अपेक्षा करता हूं कि वो केवल मुआवज़ा देकर अपनी ज़िम्मेदारी से नहीं भागेगी, बल्कि पूरी ईमानदारी से जांच करवाएगी.

 

वाराणसी हादसा : 18 की मौत 50 घायल, 48 घंटे में मांगी रिपोर्ट

वाराणसी हादसे पर PM मोदी ने जताया दुख, CM योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

वाराणसी: निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरा, 12 से ज्यादा लोगों की मौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -