वाराणसी में ऑक्सीजन को लेकर मारामारी, डीएम का आदेश- नए कोरोना मरीजों को भर्ती न करें

Apr 22 2021 03:07 PM
वाराणसी में ऑक्सीजन को लेकर मारामारी, डीएम का आदेश- नए कोरोना मरीजों को भर्ती न करें

वाराणसी: कोरोना के बढ़ते कहर के कारण अब उत्तर प्रदेश में भी ऑक्सीजन की किल्लत के चलते लोगों को समस्या होने लगी है। चौंका देने वाली बात यह है कि पीएम मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में भी ऑक्सीजन की किल्लत हो गई है। वाराणसी में लगभग 8 से 10 घंटे का ऑक्सीजन ही रिजर्व है। वहीं जिले के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सभी प्राइवेट कोविड अस्पतालों को ये निर्देश दिया है कि हॉस्पिटल में जितना ऑक्सीजन मौजूद है, उसी हिसाब से अस्पताल में मरीज को भर्ती कर उनका उपचार किया जाए।

डीएम कौशल राज शर्मा ने स्पष्ट रूप से ये आदेश दिया है कि जब तक अस्पताल से पुराना कोरोना मरीज डिस्चार्ज नहीं होता तब तक नए संक्रमित को भर्ती ना करें। डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि वाराणसी जिले में रोज़ लगभग 3400 ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति है। ऑक्सीजन की किल्लत के मद्देनज़र पूरी रात हम हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलेंडर को रिफलिंग कराकर उसकी सप्लाई कर रहे हैं, जिन अस्पतालों में ऑक्सीजन कम है। वहां सबसे पहले आपूर्ति की जा रही है।

इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि अगले कुछ दिनों में जब ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ जाए तो उसके हिसाब से फिर अस्पतालों में बेड की तादाद बढ़ाई जाए। बता दें कि वाराणसी के प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों को मिलाकर वेंटिलेटर और ऑक्सीजन वाले बेड की संख्या लगभग 650 है।

अब 'कोविड इमरजेंसी' के तहत फूड ऑर्डर कर सकेंगे जोमैटो कस्टमर्स, शुरू हुआ नया फीचर

RBI करेगा एक और बैंक का लाइसेंस रद्द, CEO ने ही किया फर्जीवाड़ा

सिख नेशनल कालेज कादियां में हो रही है फिल्म कली जोटा की शूटिंग