इस मिशन के तहत विदेश से स्वदेश लौटे 800 भारतीय

भारत में जारी कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते लोग कोने-कोने में फंसे हुए हैं. ऐसे लोगों की मदद के लिए सरकार की तरफ से वंदे भारत मिशन, ऑपरेशन सेतु और स्पेशल ट्रेनें चलाई गई है. इसके तहत ऐसे लोगों की मदद करते हुए उन्हें उनके घरों तक पहुंचाने काम किया जा रहा है. इस वंक्त वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण चल रहा है. इसके तहत दोहा, सैन फ्रांसिस्को, मेलबर्न और सिडनी से करीब 800 भारतीय को वापस अपने वतन लाया गया है. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इसकी जानकारी दी.

बंगाल में अम्फान से जनजीवन अस्त-व्यस्त, चार दिन से बिजली-पानी को तरस रहे लोग

अपने बयान में केंद्रीय मंत्री ने ट्विट करते हुए कहा कि वंदे भारत मिशन आशा और खुशी वाला अभियान है. इसके तहत 25 मई को 833 भारतीय नागिरकों को चार उड़ानों से दोहा, सैन फ्रांसिस्को, मेलबर्न और सिडनी से दिल्ली,और कोच्चि से अहमदाबाद लाया गया. पिछले हफ्ते, पुरी ने कहा था कि अब तक 20 हजार भारतीय नागरिकों को मिशन के तहत देश में वापस लाया गया है और आने वाले दिनों में यह संख्या और बढ़ेगी.

कांग्रेस नेता अलका लाम्बा पर FIR दर्ज, ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा #arrestalkalamba

इसके अलावा विदेश मंत्रालय (MEA) ने हाल ही में घोषणा की कि मिशन के दूसरे चरण को 13 जून तक बढ़ा दिया गया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, "इस मिशन का दूसरा चरण 16 मई से शुरू हुआ और यह चरण 13 जून तक चलेगा.हम इस चरण में 162 उड़ानों में 47 देशों के अपने नागरिकों को वापस लाना चाहते हैं.

लॉकडाउन की शर्तो में छूट पड़ी भारी, तेजी से बढ़ रहा संक्रमण

आनंद महिंद्रा ने लॉकडाउन को लेकर बोली बडी बात

क्वारंटाइन सेंटर में बच्ची को काटा सांप, मौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -