उत्तराखंड में फिर बिगड़ा मौसम, आज हो सकती है भारी बारिश और ओलावृष्टि

उत्तराखंड में फिर बिगड़ा मौसम, आज हो सकती है भारी बारिश और ओलावृष्टि

देहरादून: दो दिन ठीक रहने के बाद उत्तराखंड में आज से मौसम का मिजाज कुछ बिगड़ सकता है. वहीं मौसम केंद्र की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार गुरूवार और शुक्रवार को राज्य के ज्यादातर इलाकों में बारिश होने और ओले गिरने का अनुमान जताया गया है. वहीं देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, पौड़ी और नैनीताल जिलों में भारी संख्या में ओले गिर सकते हैं. जंहा वहीं, टिहरी, पौड़ी, अल्मोड़ा, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर के कुछ इलाकों में भारी बारिश भी हो सकती है. मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली और पिथौरागढ़ जिलों के ऊंचाई वाले स्थानों पर बर्फ भी गिर सकती है. राज्य के 3000 मीटर से ज्यादा ऊंचाई वाले इलाकों में भी बर्फ गिरने का अनुमान है. जबकि 18 जनवरी 2020 को उत्तराखंड के कुछ क्षेत्रों में कोल्ड डे की संभावना है. 

हिमखंड गिरने से गंगोत्री हाईवे दो जगह अवरुद्ध:  मौसम विभाग के अनुसार इस बार सर्दियों में दिसंबर से ही गंगोत्री घाटी में भीषण बर्फबारी से क्षेत्र में हिमखंड दरकने का खतरा बढ़ता जा रहा है. बीते मंगलवार यानी 14 जनवरी 2020 को चांगथांग के साथ ही झाला के पास विशाल हिमखंड टूटने से गंगोत्री हाईवे अवरुद्ध हो गया था. जंहा हालांकि बीआरओ ने झाला में तो हाईवे बहाल कर दिया है, लेकिन धराली से तीन किमी आगे चांगथांग ग्लेशियर वाले हिस्से में अभी काम चल रहा है. 

वहीं इस बात पर भी गौर फ़रमाया गया है गंगोत्री घाटी में पछियारी, सेना कैंप के पास डकरोल्या, सुक्की, सोनगाड, डबराणी, चांगथांग एवं गंगोत्री धाम में भैरोंझाप के साथ ही डबराणी से भोजवासा के बीच तीस से अधिक ग्लेशियर प्वाइंट हैं. वर्ष 2002 में गंगोत्री गंगा बाग के पास आए 40 फीट मोटाई वाले हिमखंड ने करीब 84 घंटे तक गंगा भागीरथी का प्रवाह अवरुद्ध कर दिया था.

इस खिलाड़ी के अथक प्रयास के बाद पाक में मैच खेल सकता है बांग्लादेश

शहडोल जिला अस्पताल में पांच नवजात की मौत, शिवराज चौहान ने सरकार पर उठाए सवाल

कमिश्नर के आने से पहले जलाई जा रही थीं SSP ऑफिस की फाइलें, उच्च स्तरीय जांच के आदेश जारी