मूसलाधार बारिश से फटी उत्तराखंड की जमीन, लोगों में छाया खौफ

देहरादून: उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में सर्वाधिक वर्षा से मुनस्यारी के सैणराथी गांव के ऊपरी भाग में भूमि फट गई। गांव के एक बड़े भूभाग में भूमि पर बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई हैं। इन दरारों की चौड़ाई कुछ जगहों पर 15 सेंटीमीटर से ज्यादा है। जमीन दरकने से संकट की जद में आए गिरगांव तथा भंडारीगांव में मकान टुकड़ों में परिवर्तित हो रहे हैं। थल-मुनस्यारी मोटर मार्ग में मौजूद गिरगांव तथा भंडारीगांव में बीते एक महीने से जमीन दरक रही है। 

वही जाकुला नदी से लेकर गांव तक भूमि धंसने से मकान आहिस्ता-आहिस्ता टूटकर कई भागों में बंट रहे हैं। प्रभावित परिवारों को प्रशासन ने सुरक्षित जगहों पर शिफ्ट करा दिया है। गुरुवार को मकान के खतरे में आने पर राजस्व विभाग ने कैलाश सिंह के परिवार को भी सुरक्षित जगह पर भेजा है। सामाजिक कार्यकर्ता भगत सिंह बाछमी ने कहा कि भूमि आहिस्ता-आहिस्ता धंसती जा रही है। घरों एवं खेतों में दरारें पड़ने से ग्रामीण परेशान हैं।

वही इसी गांव के ठीक सामने मौजूद सैणराथी के खेता तोक में भी आपदा ने दस्तक दी है। बीते कई दिनों से तेज वर्षा की वजह से यहां जमीन में 20 से 50 मीटर लंबी तथा 15 सेमी चौड़ी दरारें पड़ गई हैं। राजस्व गांव खेता के ऊपरी भाग में दरारें पड़ने तथा भूस्खलन होने से आधा दर्जन मकान संकट की जद में आ गए हैं। शेर सिंह, हरमल सिंह, गंगा सिंह, कुंवर सिंह, शेर सिंह, पुष्पा देवी, लाल सिंह, बीडीसी सदस्य नेहा मेहता ने प्रशासन से तुरंत जमीन की सुरक्षा की व्यवस्था करने तथा उचित मुआवजे की मांग की है। 

सिद्धार्थ के जाने से पीली पड़ी शहनाज गिल, अभिनेता की माँ का भी हुआ बुरा हाल

इस मशहूर सुपरस्टार से हुई थी सिद्धार्थ शुक्ला की आखिरी बार बात, एक्टर ने जताई हैरानी

हाई प्रोटीन डायट में थे सिद्धार्थ शुक्ला, रात में माँ से की थी बेचैनी की शिकायत!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -