लोगों के घरों में छाया अँधेरा, बिजली विभाग में हड़ताल पर गए 4 हजार बिजली कर्मचारी...

देहरादून: कोरोना के अलावा देश से आए दिन कई अन्य तरह के मामले भी सामने आ रहे है इस बीच सोमवार की आधी रात से आम नागरिकों को बिजली की दिक्कत से जूझना पड़ रहा है। लम्बे आंदोलन तथा सचिवालय में हुई लगभग 10 घण्टे की बैठक नाकाम होने के पश्चात् अब कर्मचारियों ने हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। दरअसल, अपनी 14 सूत्रीय मांगों को लेकर ऊर्जा विभाग के कर्मचारी वर्ष 2017 से आंदोलन कर रहे थे, जिसमें भिन्न-भिन्न स्तर पर कर्मचारियों तथा शासन के बीच बैठक का दौर भी चलता रहा। 

वही जिसमें कई बार आश्वासन के पश्चात् कर्मचारियों को अपना आंदोलन बैकफ़ुट पर भी लाना पड़ा, मगर 27 मई 2021 को कर्मचारियों ने अपनी 14 सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल की फ़ोन कर अभी स्तर पर पत्रावली भेजी। जिसके तहत कर्मियों ने अपनी मांगों को पर हल न निकलने पर आधी रात से हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया। जिसके लिए बिजली सबस्टेशनों तथा जलविद्युत प्रोजेक्ट में नाइट ड्यूटी को भी रोक लिया है।

साथ ही लगभग 4 हजार ऊर्जा कर्मचारी अनिश्चित काल के लिए हड़ताल पर चले गए हैं। कर्मचारियों ने बताया कि जब तक उनकी सभी मांगों को न माना गया तब तक वो वापस काम पर नही आएंगे। वेतन विसंगति, समान कार्य समान वेतन, भत्ते तथा ACP जैसे 14 मांगों को लेकर कर्मचारियों ने हड़ताल आरम्भ कर दी है। वहीं, इलेक्ट्रिसिटी एंप्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष शैलेंद्र दुबे के साथ सचिवालय कर्मचारी महासंघ ने भी बिजली कर्मियों की मांगों को जायज मानते हुए उनका सपोर्ट किया है।

भूकंप के झटकों से डोला इंडोनेशिया

VIDEO: राहुल-दिशा के घर पहुंचे किन्नर, आशीर्वाद देकर मांगे इतने रुपए

दिल्ली में ट्रैक्टर लेकर कैसे घुसे राहुल गांधी? पुलिस की जांच में हुआ ये बड़ा खुलासा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -