केदारनाथ: जानिए क्या बोले आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति बनाने वाले मूर्तिकार?

केदारनाथ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज केदारनाथ धाम में आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति का अनावरण किया। आप सभी को बता दें कि उस मूर्ति को मैसूर के मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। PM द्वारा मूर्ति का अनावरण करने के बाद से बेंगलुरू के अरुण योगीराज काफी खुश हैं। हाल ही में उन्होंने इस बारे में बात करते हुए कहा, 'हमारी मेहनत सफल हो गई है। यह हमारे लिए बेहद खुशी का पल है। हमने प्रतिदिन कम से कम 14 घंटे काम करके नौ महीने में इस मूर्ति को तैयार किया था। मुझे बेहद खुद है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिगुरु शंकराचार्य की मूर्ति को देश के नाम कर दिया।'

इसी के साथ योगीराज ने यह भी कहा, 'जब सरकार ने शंकराचार्य की मूर्ति स्थापित करने का फैसला किया, तो इसके लिए देशभर के मूर्तिकारों से मूर्ति के नमूने आमंत्रित किए गए थे। आखिरकार मेरा नमूना चुना गया और तब से प्रधानमंत्री कार्यालय निजी तौर पर इस कार्य की प्रगति की निगरानी कर रहा था।' इसके अलावा योगीराज ने यह भी बताया कि, 'मूर्ति बनाने के लिए मैसुरू में एचडी कोटे से काले ग्रेनाइट के पत्थर का चयन किया गया और सात लोगों की एक टीम ने इस काम को अंजाम दिया।'

उनका कहना है 12 फुट ऊंची प्रतिमा का वजन करीब 28 टन है और मूर्ति जुलाई में बनकर तैयार हो गयी थी। वहीं उसके बाद इसे उत्तराखंड ले जाया गया। यह भी खबरें हैं कि मूर्ति को भारतीय वायु सेना के चिनूक हेलीकॉप्टर की मदद से निर्धारित स्थान पर लाया गया है। आपको यह भी बता दें कि एमबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद योगीराज को एक अच्छी नौकरी भी मिली थी, लेकिन वह शुरू से मूर्तिकार बनना चाहते थे। इस वजह से उन्होंने नौकरी छोड़कर मूर्ति बनाना शुरू कर दिया।

पीएम मोदी ने केदारनाथ में किया 130 करोड़ रुपये की पुनर्विकास परियोजनाओं का उद्घाटन

'देश पुर्निर्माण के संकल्पों से आगे बढ़ रहा है, आजादी का अमृत महोत्सव भी मना रहा है': PM मोदी

'तीर्थाटन भारत की जीवंत परंपरा है', केदारनाथ में बोले PM मोदी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -