राष्ट्रीय आपदा टीम तपोवन सुरंग में अब भी कर रहे है खोज

By Emmanual Massey
Feb 22 2021 01:27 PM
राष्ट्रीय आपदा टीम तपोवन सुरंग में अब भी कर रहे है खोज

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की टीम सोमवार को तपोवन सुरंग के अंदर 171 मीटर तक पहुंच गई है। टीम ने कहा, सुरंग खोदने के लिए खुदाई का काम कल रात 11:50 बजे से 2:15 बजे तक चला। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला आज भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के पुलिस महानिदेशक एसएस देसवाल, उत्तराखंड राज्य के अधिकारियों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक करने वाले हैं, जिसमें बाढ़ के बाद बनी कृत्रिम झील पर आगे की कार्रवाई पर चर्चा होगी। 

सरकारी सूत्रों के अनुसार चमोली जिले में बैठक में बचाव और राहत कार्यों की प्रगति पर भी चर्चा की जाएगी। चमोली जिले में तपोवन बैराज क्षेत्र और सुरंग में तलाशी अभियान और ओसिंग की प्रक्रिया जारी है। उत्तराखंड में ग्लेशियर के फटने से अब तक कुल 68 शव बरामद किए जा चुके हैं। भारतीय नौसेना ने रविवार को कहा कि नौसेना के गोताखोरों ने 7 फरवरी को ग्लेशियर के फटने के बाद चमोली जिले की ऊपरी पहुंच में बनी ग्लेशियल झील की गहराई को रिकॉर्ड करने का काम किया।

एनडीआरएफ के जवानों ने चमोली में धौलीगंगा नदी में एक गेज लगाने के लिए पहाड़ के नीचे से रास्ता निकाला। 7 फरवरी को उत्तराखंड के चमोली जिले के तपोवन-रेनी क्षेत्र में एक ग्लेशियर के फटने से धौलीगंगा और अलकनंदा नदियों में बड़े पैमाने पर बाढ़ आ गई जिससे घरों और पास के ऋषिगंगा बिजली परियोजना को नुकसान पहुंचा।

Ind Vs Eng: विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम 'मोटेरा' को लेकर पांड्या का चौंकाने वाला बयान

'नारी को मृत्युदंड देने से आएंगी आपदाएं...', शबनम की फांसी रोकने के लिए हिन्दू धर्मगुरु ने उठाई आवाज़

कर्नाटक सरकार ने कोविड को रोकने के लिए 13 केरल प्रवेश बिंदु बंद करने का दिया आदेश