+

उत्तराखंडः शीतकालीन विधानसभा सत्र बुधवार से बढ़ सकती है मुश्किलें

उत्तराखंडः शीतकालीन विधानसभा सत्र बुधवार से बढ़ सकती है मुश्किलें

देहरादून: हाल ही में विधानसभा का शीतकालीन सत्र चार दिसंबर से शुरू होने जा रहा है, जो 10 दिसंबर तक चलेगा. इससे इलाके के लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि इस अवधि में विधानसभा से जुड़े मार्गों पर बैरियर लगने के कारण वाहनों का आवागमन पूरी तरह बंद रहेगा. इस सबंध में आज देहरादून में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई. बैठक में संसदीय कार्य मंत्री मदन कौशिक, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, गोविंद सिंह कुंजवाल, खजान दास, सचिव विधानसभा जगदीश चंद्र मौजूद रहे. इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष में नेता प्रतिपक्ष और संसदीय कार्य मंत्री से सदन को व्यवस्थित रूप से चलाने का आग्रह किया.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस की तरफ से दावा किया गया है कि सत्र के दौरान विषम परिस्थितियों में ही स्थानीय लोगों के वाहनों को डायवर्ट किया जाएगा. साथ ही विभिन्न राजनैतिक दलों और संगठनों के विरोध प्रदर्शन के चलते शहर के एक हिस्से का यातायात बाधित रहेगा. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अरुण मोहन जोशी ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक नगर श्वेता चौबे के साथ व्यवस्थाओं का जायजा लिया.

वहीं इस बात का पता चला है कि उन्होंने बैरिकेडिंग का भी अवलोकन किया. विधानसभा सत्र के दौरान ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियाें को मंगलवार को पुलिस लाइन में ब्रीफ किया जाएगा. पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था अशोक कुमार और आईजी गढ़वाल अजय रौतेला ने भी पुलिस अधिकारियों के साथ सत्र की व्यवस्थाओं की समीक्षा की. 

यहां रहेंगे बैरियर
- प्रगति विहार बैरियर
- शास्त्रीनगर बैरियर
- बाईपास बैरियर
- डिफेंस कॉलोनी बैरियर

ये रहेगा फोर्स
जानकारी के लिए हम आपको बता दें विधानसभा सत्र के दौरान चार अपर पुलिस अधीक्षक, नौ पुलिस उपाधीक्षक, आठ इंस्पेक्टर, चार थाना प्रभारी, पांच दरोगा, 160 कांस्टेबल और दो कंपनी पीएसी तैनात की गई है.

SPG सुरक्षा बिल राज्यसभा में पेश, अमित शाह ने पुछा- गाँधी परिवार को ही क्यों चाहिए एसपीजी ? जबकि....

टाइफून कम्मुरी की चपेट में फ‍िलीपींस, सरकार ने जारी किया अलर्ट

पीएम मोदी बोले, झारखंड में इतनी जल्दी मौसम भी नहीं बदलते थे, जितनी जल्दी सीएम बदल जाते थे