ख़त्म हुआ इंतजार! कांग्रेस ने जारी की 53 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट, यहां देखें पूरी सूची

देहरादून: कांग्रेस ने लम्बी प्रतीक्षा के बाद उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए अपने 53 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी। शनिवार नई दिल्ली में रात लगभग 11 बजकर 40 मिनट पर पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक की तरफ से उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया गया। घोषित सूची में पार्टी के सभी नौ सिटिंग MLA को स्थान दिया गया है। खटीमा सीट पर सीएम पुष्कर सिंह धामी के विरुद्ध पार्टी ने भुवन चंद्र कापड़ी को मैदान में उतारा है। पहली लिस्ट में 3 महिलाओं को प्रत्याशी बनाया गया है। 

वही प्रदेश में 8 जनवरी को चुनाव प्रोग्राम घोषित होने के 14 दिन की लंबी जद्दोजहद के पश्चात् कांग्रेस पार्टी शनिवार देर रात लिस्ट जारी कर पाई है। जबकि इससे पूर्व सत्ताधारी दल बीजेपी 20 जनवरी को अपने 59 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर चुकी है। शनिवार को नई दिल्ली मौजूद कांग्रेस के 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड (जीआरजी) में बने वार रूम में पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक की तरफ से कांग्रेस उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की।

वही घोषित सूची पार्टी प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल श्रीनगर, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह को उनकी परंपरागत सीट चकराता, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल को जागेश्वर, पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य को बाजपुर तो उनके पुत्र संजीव आर्य को नैनीताल से प्रत्याशी बनाया गया है। इसके अतिरिक्त पार्टी की दिग्गज नेता रहीं दिवंगत इंदिरा हृदयेश के बेटे सुमित हृदयेश को हल्द्वानी से उम्मीदवार बनाया गया है। साथ ही केदारनाथ से मनोज रावत, चकराता से प्रीतम सिंह, भगवानपुर से ममता राकेश, पिरान कलियर से फुरकान अहमद, मंगलौर से काजी निजामुद्दीन, धारचूला से हरीश धामी, रानीखेत से करण महरा, जागेश्वर से गोविंद सिंह कुंजवाल, जसपुर से आदेश चौहान के नाम सम्मिलित हैं। इसके अतिरिक्त पुरोला सुरक्षित सीट पर MLA रहे राजकुमार बीते दिनों बीजेपी में सम्मिलित हो चुके हैं। इस सीट पर पार्टी ने बीजेपी से कांग्रेस में सम्मिलित हुए मालचंद को अवसर दिया है। जबकि हल्द्वानी में पार्टी की दिग्गज नेता रहीं इंदिरा हृदयेश के देहांत के पश्चात् इस पर पार्टी ने उनके बेटे सुमित हृदयेश पर पर दांव खेला है। 

NCP सांसद अमोल कोल्हे ने फिल्म में निभाई 'गोडसे' की भूमिका, मचा बवाल

ओडिशा पंचायत चुनाव: 2.29 लाख से अधिक नामांकन पत्र दाखिल

कांग्रेस ने जितिन प्रसाद को भाजपा में जाने से क्यों नहीं रोका ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -