नैनीताल: पुल पर अचानक होने लगा भूस्खलन, खिड़कियों से कूदकर भागे बस यात्री

नैनीताल: लगातार हो रही भारी बारिश ने उत्तराखंड में आफत मचाई हुई है। जी दरअसल यहाँ पर जगह-जगह से भूस्खलन होने की खबरे सामने आ रही है। आप सभी को बता दें कि बीते शुक्रवार 20 अगस्त को नैनीताल के वीरभट्ट पुल पर अचानक ही भूस्खलन होने लगा और इससे पहाड़ी से बड़ी तादात में मलवा सड़क पर आने लगा। इस बीच भूस्खलन की चपेट में आने से केएमओयू की एक बस बाल-बाल बच गई। मिली जानकारी के तहत इस दौरान बस में सवार यात्री अपनी जान बचाने के लिए खिड़कियों से कूदकर भागते नजर आए। खबरों के अनुसार भूस्खलन के कारण अल्मोड़ा, बागेश्वर सहित कुमाऊं का संपर्क हल्द्वानी से कट गया है।वहीँ पुलिस ने भारी वाहनों को हल्द्वानी व काठगोदाम के पास ही रोक दिया है।

अब पहाड़ टूटकर गिरने का वीडियो सामने आया है जो आप देख सकते हैं। यहाँ बीते शुक्रवार सुबह से हो रही बारिश के कारण पुल के नजदीक मिट्टी व पत्थर लगातार गिर रहे थे, लेकिन शाम को करीब पांच बजे अचानक पहाड़ी से भारी तादात में मलवा व पेड़ गिरने लगे। इस बीच भवाली से हल्द्वानी को आ रही केएमओयू की बस भी यहां पर पुल पार करने की कोशिश कर रही थी। यह सब देखकर लोगों ने चिल्लाकर बस चालक को सावधान किया। इस बीच जब तक चालक बस को रोककर बैक करता तब तक पहाड़ी से मलबा गिरने लगा। इस दौरान मलबा गिरता देख सवारियां घबरा गई और बस से कूदकर अपनी जान बचाई।

इस मामले में ज्यूलीकोट चौकी प्रभारी जोगा सिंह का कहना है कि, 'भूस्खलन के खतरे को देखते हुए सड़क पर यातायात पूरी तरह से रोक दिया गया है। भारी वाहनों को गुजरने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। छोटे वाहनों को रानीबाग से भेजा जा रहा है। बेहद जरूरी सेवाओं को नैनीताल के जरिए कुमाऊं के बाकी जिलों को भेजा जाएगा।' वहीँ दूसरी तरफ मौसम विभाग ने पूरे उत्तराखंड में 24 अगस्त तक भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

JK: LG मनोज सिन्हा ने विदेश राज्य मंत्री से किया काबुल में फंसे कश्मीरी प्रोफेसरों को स्वदेश लाने का आग्रह

प्रतिभावान खिलाड़ियों को 2024 और 2028 के ओलंपिक खेलों के लिए प्रशिक्षण देगी शिवराज सरकार

6 महीने का हुआ करीना कपूर का छोटा बेटा जेह, अभिनेत्री ने दिखाया चेहरा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -