80 हजार में खरीदी और बना ली दासी, फिर सगे भाई करते थे बलात्कार

Sep 19 2015 06:05 AM
80 हजार में खरीदी और बना ली दासी, फिर सगे भाई करते थे बलात्कार

उत्तर प्रदेश: अलीगढ़ के गभाना में करीब दो महीनो पहले पश्चिम बंगाल के 24 परगना से काम का प्रलोभन देकर लाई गईं 2 बहनों में से एक को चंडौस के गांव नवाबपुर से छुड़ाया गया है। ये बहनें गांव के दो सगे भाईयों को महज 80 हजार रूपये में बेच दी गई थीं। खरीद कर लाए इन लड़कियों को वह दासी बनाकर घर में कैद रखते थे और दुष्कर्म किया करते थे। किसी तरह पिता को इस बात की खबर लगी और दिल्ली के एक एनजीओ से सम्पर्क किया फिर स्थानीय पुलिस की मदद ली गयी तब जाकर उनमें से एक को मुक्त कराने में सफलता हाथ लगी। वही अभी तक दूसरी लड़की का कोई पता नही चल पाया है। एक लड़की को तो छुड़ा लिया गया लेकिन आरोपी सगे भाई फरार हैं। 

मामले के मुताबिक पश्चिम बंगाल के दक्षिण जिला 24 परगना थाना जीवनटला के गांव हेतेमारी निवासी गरीब परिवार की युवती को पड़ोसी गांव पोटखाली के रहने वाले गोविंदो ने कोठियों में काम दिलाने के बहाने करीब दो महीने पहले दिल्ली लेकर आया बता दे की युवती के साथ उसकी एक नाबालिग बहन भी आई थी। अब आपको बताते हैं कि युवती व उसकी बहन को चंडौस के गांव नवाबपुर निवासी सगे भाई शिवकुमार व मेघश्याम को करीब 80 हजार रुपये में बेच दिया गया। 

दोनों भाई बड़ी बहन को तो अपने साथ गांव लेकर आ गए लेकिन छोटी बहन को किसी और जहग भेज दिया। दोनों युवको ने युवती को घर लाने के बाद उसे कैद कर दिया व उसे दासी बनाकर रखने लगे। जब युवती विरोध करती तो उसके साथ मारपीट की जाती थी इतना ही नही युवती के साथ बलात्कार भी किया जाता था। युवती जब हद से ज्यादा परेशान हो गयी तो किसी तरह मौका पाकर अपने घर फ़ोन किया और पिता को आप बीती सुनाई। इसके बाद पिता तत्काल दिल्ली पहुंचे और एक NGO की मदद से स्थानीय पुलिस से संपर्क किया फिर युवती को किसी तरह उक्त जगह से छुड़ाया जा सका।