सपा नेता के बेटे पर लड़की को अगवा करने का आरोप, पीड़ित माँ ने अखिलेश की गाड़ी के सामने की आत्मदाह की कोशिश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में समाजवादी पार्टी (सपा) के पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री स्वर्गीय फतेह बहादुर सिंह के पुत्र रजोल सिंह पर लड़की को किडनैप करने का इल्जाम लगा है. लड़की की मां उन्नाव पुलिस में इससे पहले शिकायत भी दर्ज करा चुकी है, मगर उसके बाद भी राजोल सिंह के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई है. जिससे आहत होकर पीड़ित मां ने सोमवार को लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी (सपा) के कार्यालय के बाहर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की गाड़ी के सामने आकर पेट्रोल डालकर आत्मदाह करने का प्रयास किया है. हालांकि, पुलिस ने किसी प्रकार पीड़ित मां को बचा लिया है.

परिजनों का आरोप है कि इस घटना को 50 दिन बीत चुके हैं, मगर पुलिस ने उसकी बेटी की तलाश तक शुरू नहीं की है. जिस वजह से मजबूर होकर मां समाजवादी पार्टी के दफ्तर पहुंची, जहां उसने आत्महत्या करने की का प्रयास किया. वहीं उन्नाव पुलिस अब मामले को हाई प्रोफाइल होता देख हरकत में आ गई है. एडिशनल SP शशिशेखर सिंह ने बताया की आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. उन्होंने ने कहा की अपहर्ता की सकुशल बरामदगी के लिए 2 टीमों को तलाश में लगाया गया है. फिलहाल पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है.

उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के काशीराम की निवासी रीता देवी पत्नी मुकेश ने सदर कोतवाली में एक तहरीर देकर केस दर्ज कराया था. जिसमें 8 दिसंबर 2021 को उसकी 22 वर्षीय बेटी का किडनैप करने की बात लिखी गई थी. साथ ही मारपीट करने का भी इल्जाम लगाया गया था. आरोप था कि राजोल सिंह उर्फ अरुण सिंह पुत्र फतेह बहादुर ने अपने कई साथियों के साथ बाजार जाते वक़्त जबरन उसकी बेटी को किडनैप कर लिया था. पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर लिया था, मगर स्वर्गीय सपा नेता फतेहबहादुर सिंह पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री होने के कारण पुलिस उनसे मिली हुई है. हालांकि पुलिस ने पूरे मामले में अपहरण सहित SC/ST और मारपीट की धाराओं में केस दर्ज  किया था.

झारखंड से तस्करी कर मध्यप्रदेश लायी जा रही थी किशोरी, पुलिस ने किया भंडाफोड़

पंजाब में माँ काली की प्रतिमा के साथ बेअदबी, श्रद्धालुओं ने आरोपी को पकड़कर पीटा

किन्नर मर्डर केस का हुआ खुलासा, सच जानकर पुलिस के भी खड़े हो गए रोंगटे

Most Popular

- Sponsored Advert -