5 हज़ार रुपए देकर बंगाल के रास्ते भारत में घुसते हैं बांग्लादेशी, फिर करते हैं डकैती... बड़े गिरोह का पर्दाफाश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चिनहट में रविवार (10 अक्टूबर 2021) देर रात एनकाउंटर किया। पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनकी शिनाख्त 26 वर्षीय शेख रुबेल, 27 वर्षीय आलम और 23 वर्षीय रबीउल के रूप में हुई है। ये सभी बांग्लादेशी नागरिक हैं। एनकाउंटर के दौरान इनके कुछ साथी भाग निकलने में भी सफल रहे, जिनकी तलाश की जा रही है। लखनऊ के पुलिस कमिश्नर ध्रुव कांत ठाकुर ने बताया कि यह गिरोह डकैती की वारदात को अंजाम देने निकला था, इसी दौरान मल्हौर रेलवे स्टेशन के नज़दीक पुलिस पेट्रोल पार्टी के साथ मुठभेड़ हो गई।

ईस्ट जोन के DCP संजीव सुमन ने बताया कि रविवार रात के लगभग 1.45 बजे पुलिस ने कुछ संदिग्धों को देखा। रुकने के लिए कहे जाने पर वे भागने लगे और गोलीबारी आरंभ कर दी। जवाबी कार्रवाई में दो बदमाश गोली लगने से घायल हो गए। एक को भागते समय पुलिस ने दबोच लिया, जबकि अन्य भाग निकले। इनसे पूछताछ में बांग्लादेशी युवाओं के ऐसे गिरोह का खुलासा हुआ है जो देश के विभिन्न कोनों में डकैती की वारदातों का अंजाम देते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, ये नदी पार कर बांग्लादेश से भारत में दाखिल होते हैं। ये सभी लोग 5-10 हजार रुपए देकर पश्चिम बंंगाल के 24 परगना के रास्ते भारत में प्रवेश करते हैं। इसके बाद ट्रेन के माध्यम से देश के विभिन्न हिस्सों में पहुँचते हैं।

भारत में घुसने के बाद ये रेलवे पटरी के आसपास के इलाकों में कबाड़ी, चाय वाला या फेरी वाला बनकर निशाना बनाने वाले घरों की रेकी करते हैं। अमूमन ऐसे घरों को निशाना बनाते हैं, जो रेलवे लाइन के किनारे या खाली प्लॉट में स्थित हों। डकैती को अंजाम देने के बाद पैसे और जेवरात अपने किसी सहयोगी के साथ बांग्लादेश भेज देते हैं, ताकि पकड़े जाने पर उनके पास से माल की बरामदगी न हो। गिरोह के सदस्य वारदात के दौरान आपस में बंगाली में ही बातचीत करते हैं। मोबाइल की जगह वाकीटॉकी का उपयोग करते हैं। 15 फीट की दीवार ये आराम से फाँद लेते हैं। अधिकारियों के मुताबिक, ग्रिल काटने के ब्लेड, स्कू ड्राइवर के अतिरिक्त ये अपने साथ देशी पिस्टल भी रखते हैं। इस 11 सदस्यीय गिरोह के सरगना की शिनाख्त हमजा के रूप में हुई है।

इसके साथ ही यह भी पता चला है कि डकैती के दौरान ये घर में मौजूद लोगों को बंधक बना लेते हैं। विरोध करने पर डंडों और लोहे की रॉड से उन्हें बुरी तरह पीटते भी हैं। कभी-कभी घर की महिलाओं के साथ बलात्कार भी करते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार के एक घर में इस गिरोह ने डकैती के दौरान विरोध किए जाने पर एक वृद्ध महिला की सिर पर लोहे के रोड से हमला कर हत्या कर दी थी। इनसे पूछताछ में उत्तर प्रदेश, दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में हुई डकैती की वारदातों का पता चला है।

शर्मनाक! घर में अकेली थी विधवा भाभी, अचानक आया देवर और...

कार के इंजन में सोने के 35 बिस्किट छिपाकर ले जा रहे थे बदमाश, हुए गिरफ्तार

दिल्ली: नेत्रहीन व्यक्ति की पत्थर मारकर हत्या.., नेत्रहीन महिला के साथ बदसलूकी का कर रहे थे विरोध

 

Most Popular

- Sponsored Advert -