यूपी पुलिस ने किया टेरर फंडिंग का पर्दाफाश, नेपाल के रास्ते आतंकियों को पहुंचते थे पैसा

Oct 11 2019 04:26 PM
यूपी पुलिस ने किया टेरर फंडिंग का पर्दाफाश, नेपाल के रास्ते आतंकियों को पहुंचते थे पैसा

लखनऊ: टेरर फंडिंग के इल्जाम और फेक करेंसी नेटवर्क से संबंधित चार संदिग्धों की लखीमपुर खीरी से गिरफ्तार करने के बाद यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेस वालों से बातचीत करते हुए बताया है कि उम्मीद अली, संजय अग्रवाल, शमीम सलमानी के साथ एक और शख्स को गिरफ्तार किया गया है, जबकि मुमताज नाम के अपराधी की नेपाल पुलिस और यूपी पुलिस खोज कर रही है. 

टेरर फंडिंग नेटवर्क का पर्दाफाश करते हुए डीजीपी ओपी सिंह ने दोपहर में प्रेस वार्ता की है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने नेपाली बैंक की वेबसाइट हैक करके 49 लाख रुपये निकाल लिए थे और इन पैसों को आतंकियों को भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए भेजा गया था.  डीजीपी ने बताया है कि 4 अन्य लोगों के नेपाल से आतंकी गतिविधियों में संलिप्त होने की बात बताई जा रही है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से मोबाइल फोन और अन्य उपकरण भी बरामद हुए हैं. आरोपियों के मोबाईल डेटा को रिट्रीव किया जा रहा है.

डीजीपी ने प्रेस वालों को मामले की जानकारी देते हुए बताया है कि टेरर फंडिंग नेटवर्क के माध्यम से रकम पहले नेपाल के बैंक खातों में जमा होती है. फिर नेपाल के रास्ते भारत में लाकर इन पैसों का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों में खर्च करने की योजना थी. 

Forbes India Rich List 2019: मुकेश अंबानी फिर बने सबसे अमीर भारतीय, देखें पूरी सूची

पेट्रोल डीजल के दामों में लगातार दूसरे दिन आई गिरावट, जानिए आज के रेट

मंदी का असरः अब इस कंपनी ने किया 30 दिन तक उत्पादन बंद रखने का ऐलान