बाइबिल देकर कहा- 'ईसाई बन जाओ', मना करने पर ग्रामीणों को देने लगे गालियां...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में ईसाई धर्मान्तरण की कोशिश का मामला प्रकाश में आया है। यहाँ पर चंगाई सभा के नाम पर लोगों को ईसाई बनाने की कोशिश की शिकायत पर हिन्दू संगठनों ने गाँव में बवाल मचाया। इस सभा का विरोध करने वाले एक युवक के साथ गाली-गलौज करने का भी इल्जाम है। पुलिस ने मौके पर पहुँच कर मामले को शांत करवाया और 3 आरोपितों को अरेस्ट कर के जेल भेज दिया है। घटना 2 जुलाई, 2022 (शनिवार) की है।

यह घटना खागा थानाक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गाँव सुजरही की है। मामले में ‘बजरंग दल’ के कार्यकर्ता राहुल विश्वकर्मा ने शिकायत की है। राहुल के अनुसार, '2 जुलाई को मैं दिन में 11 बजे सुजरही गाँव में घूमने के लिए गया था। वहाँ पर संजय पासवान और रामचंद्र नामक 2 शख्स और नीरमती नाम की एक महिला भीड़ के साथ नज़र आई। इस दौरान ये सभी बिना इजाजत ईसाई धर्म का प्रचार करते हुए लोगों को धर्मांतरण करने के लिए प्रेरित कर रहे थे। इस अवसर पर ईसाई धर्म से संबंधित किताबें भी बाँटी जा रहीं थीं।'

राहुल ने अपनी शिकायत में आगे बताया कि, 'तीनों आरोपितों ने मुझे भी ईसाई धर्म की पुस्तक बाइबिल दी और मुझे ईसाई बनने को कहा। मैंने उन्हें खुद के हिन्दू होने और हिन्दू ही रहने का जवाब दिया। यह जवाब सुन कर इन तीनों ने मुझे गालियाँ दी। इस पूरे मामले के दौरान मेरे 2 दोस्त भी मौजूद थे।'

राहुल ने पुलिस से सख्त कार्रवाई करने की माँग की है। राहुल की शिकायत पर पुलिस ने धारा 188, 295- A, 504 और उत्तर प्रदेश धर्मान्तरण निरोधक धारा 3/5 (1) के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली है। मौके से तीनों आरोपितों रामचंद्र, संजय और नीरमती को अरेस्ट कर के कोर्ट भेज दिया गया है। कोर्ट ने तीनों आरोपितों को 3 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। पुलिस जाँच अधिकारी सब इंस्पेक्टर कृष्ण स्वरूप इस मामले की छानबीन कर रहे हैं।

अग्निवीरों को सर्विस पूरी होने के बाद भी मिलेगा मुफ्त इलाज, सरकार कर रही तैयारी

'अग्निपथ' पर सुनवाई के लिए राजी हुआ सुप्रीम कोर्ट, क्या केंद्र को वापस लेना पड़ेगा ?

कुल्लू में दर्दनाक हादसा, खाई में गिरी बस..., स्कूली बच्चों समेत 16 लोगों की मौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -