देवबंद: यूपी ATS ने गिरफ्तार किए दो आतंकी, साथ ही बरामद हुए हथियार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंक रोधी दस्ते (एटीएस) ने सहारनपुर जिले स्थित देवबंद से दो संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया है। इन आतंकियों का ताल्लुक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से बताया जा रहा है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेस वार्ता कर इस बारे में जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि इनमें से एक संदिग्ध शहनवाज अहमद तेली कश्मीर के कुलगाम जिले का निवासी है। शहनवाज जैश का सक्रिय सदस्य है। जबकि दूसरा आतंकी अकीब अहमद मलिक पुलवामा का ही निवासी है। ये दोनों संदिग्ध खुद को छात्र बताकर देवबंद में रह रहे थे। पुलिस इन आतंकियों के पुलवामा में हुए आतंकी हमले से जुड़े तार की भी जांच कर रही है। 

पाकिस्तान दौरे पर गए थे सऊदी के शहजादे, उपहार में मिली सोने का पानी चढ़ी राइफल और...

डीजीपी ने जानकारी देते हुए बताया है कि शहनवाज को आतंकी संगठन की ओर से भर्ती का कार्य दिया गया था। इसी उद्देश्य  से वह कई बार देवबंद भी आ चुका था। काफी समय से पुलिस की टीम दोनों आतंकियों पर निगाह रखे हुए थी। उन्होंने बताया है कि, दूसरा आतंकवादी आकिब शहनवाज का साथी है। पुलिस ने बताया है कि शहनवाज को ग्रेनेड बनाने का एक्सपर्ट माना जाता है। 

'दीदी' का सीधा हमला, कहा- अमानवीय धर्म बनाने का प्रयास कर रही भाजपा

पुलिस ने बताया कि दोनो आतंकी बिना किसी कॉलेज या इंस्टिट्यूट में दाखिला लिए खुद को छात्र बताकर वहां रह रहे थे। पुलिस को इनके पास से 32 बोर के दो तमंचे और लगभग 30 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। इसके अलावा आतंकियों की जेहादी चैट भी पुलिस के हाथ लगी है। उन्होंने बताया है कि संदिग्धों के पास से फोटो और विडियो भी मिले हैं, जिन्हें लेकर जांच चल रही है। बताया जा रहा है कि आतंकी देवबंद में मुस्लिम युवकों का ब्रेनवाश करके उन्हें आतंकी बनाने की फिराक में था। आपको बता दें कि देवबंद में सबसे बड़ा मुस्लिम स्कूल भी है, जिसका नाम दारुल उलूम देवबंद है।

खबरें और भी:-

 

झारखण्ड सीएम रघुबर दास ने शुरू की 'मीठी क्रांति योजना', जानिए क्या है इसमें ख़ास ?

हाफिज सईद के संगठन पर बैन, अंतर्राष्ट्रीय दबाव के कारण पाक की कार्यवाही या फिर ढकोसला

शशि थरूर का ट्वीट, कारगिल युद्ध के समय तो पाक के विरुद्ध खेला था भारत फिर अब...

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -