शहीद के बेटों पर आतंकी जाकिर मूसा से जुड़े होने का शक, पुलिस ने किया नज़रबंद

लखनऊ: आतंकी गतिविधियों को लेकर अमरोहा जिले का नाम एक बार फिर सामने आया है. नोगावा सादात के गांव सैदपुर इम्मा निवासी तीन सगे भाइयों को पुलिस ने आतंकी संगठन से जुड़ा होने के संदेह में गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और एटीएस ने उन्हें घर में ही नजरबंद किया है और यहीं पूछताछ कर रही है, वहीं अमरोहा जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है.

देश भर के बैंक कर्मचारी आज हड़ताल पर, अर्थव्यवस्था को लगेगा बड़ा झटका

यह मामला नोगावा सादात के गांव सैदपुर इम्मा का है, यहां पर शहीद जवान अहमद का परिवार रहता है. शहीद का परिवार नगर कोतवाली क्षेत्र में धनोरा बस अड्डे पर वेल्डिंग की दुकान चलाता है, पास के ही इस्लाम नगर में भी उसका एक और मकान है. बुधवार तड़के दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल व एटीएस की टीम ने एसपी डॉ विपिन टाडा की टीम के साथ मिलकर सैदपुर इम्मा में शहीद अहमद के घर छापा मारा.

क्रिसमस पर गोवा में आई पर्यटकों की संख्या में कमी, ये है वजह

करीब 20-25 गाड़ियां जब गांव पहुंची तो पूरे गांव में खलबली मच गई, पुलिस ने फ़ौरन शहीद के घर की घेराबंदी की तथा उसके परिजनों को घर मे बंद कर लिया, साथ ही आसपास के घरों पर भी पहरा बैठा दिया. शहीद के तीन बेटों अनीस, इदरीस व नफीस से पुलिस पूछताछ कर रही है. बताया जा रहा है कि तीन महीने पहले डीएनएस कॉलेज के छात्रों द्वारा आतंकी जमशेद को पिस्टल बेचने वाले केस के बाद से ही इन तीनों भाइयों पर टीम नज़र रखे हुए थी. तीनों भाई वैल्डिंग के काम के साथ ही गांव में मजदूरी भी करते हैं. पुलिस इस मामले को आतंकी जाकिर मूसा से जोड़ कर देख रही है.

खबरें और भी:-

चीनी मिलों को कम ब्याज पर 7,400 करोड़ का कर्ज देगी सरकार

असम पुलिस की बड़ी कामयाबी, आधा किलो आरडीएक्स के साथ दो आतंकियों को दबोचा

इस्लाम ही एक मात्र सनातन धर्म, अगर मोदी मुस्लिम बन जाएं तो देश में शांति आ जाएगी- नेशनल कांफ्रेंस

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -