उतने मेरे चहेरे भी नहीं

क्या करूंगा मैं तेरे शीशमहल में आकर ., 

जितने तेरे आईने हैं, उतने मेरे चहेरे भी नहीं।

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -