खेल में दुबारा शुरू करनी है ट्रेनिंग तो सुझावों में आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल अनिवार्य

भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) द्वारा गठित समिति ने रविवार को खिलाड़ियों की ट्रेनिंग शुरू करने को लेकर मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) में आरोग्यु सेतु एप के अनिवार्य उपयोग, राष्ट्रीय खेल महासंघों (एनएसएफ) द्वारा स्वास्थ अधिकारी नियुक्त करना, जो सभी सुरक्षात्मक उपायों के पालन को सुनिश्चित करे, ल़ॉकर रूम बंद करना, आपस में 1.5 और दो मीटर की दूरी बनाए रखना जैसी सिफारिशें सुझाई हैं.

साई ने 10 मई को सचिव रोहित भारद्वाज की अध्यक्षता में छह सदस्यीय समिति का गठन किया जिसने 33 पेजों की अपनी रिपोर्ट दी है और उसमें ट्रेनिंग शुरू करने संबंधी सिफारिशों का जिक्र किया है. इस रिपोर्ट को अब स्वास्थय मंत्रालय और गृह मंत्रालय से मंजूरी मिलना बाकी है.

एसओपी में कहा गया है , "जिम का उपयोग या तो बंद किया जाए या सीमित किया जाए. जहां तक निजी उपकरणों से एक्सरसाइज करने की बात है तो उन्हें किसी और को न दिया जाए. अगर खिलाड़ी जिम का उपयोग करें तो ध्यान रहे कि वो आपस में 1.5-2 मीटर की दूरी बनाए रखें. और उपकरणों को उपयोग की मंजूरी तभी दी जाए जब खिलाड़ी मुंह पर मास्क और ग्ल्व्स का उपयोग करें." एसओपी में खिलाड़ियों को कोविड-19 से बचाव के तरीकों के बारे में शिक्षित करने की बात कही है. एसओपी में कहा गया है कि जो खिलाड़ी साई केंद्रों में हैं उनकी स्क्रीनिंग करना चाहिए. साथ ही कहा है कि जो ट्रेनिंग शुरू होने के बाद केंद्र में आते हैं उन्हें टेस्ट का परिणाम न आने तक क्वारंटीन किया जाए.

एक के बाद एक खिलाड़ियों का आफरीदी पर निकल रहा क्रोध

Video: PoK में अफरीदी ने उगला जहर, पीएम मोदी पर दिया बेहद अपमानजनक बयान

AITA के पुरस्कार के लिए अंकिता रैना समेत इस खिलाड़ी को किया जा सकता है नॉमिनेट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -