अमेरिका-ईरान की लड़ाई से भारत पर होगा असर

अमेरिका: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ 2015 में हुए परमाणु समझौते से अमेरिका को अलग कर लिया है.  इस फैसले से भारत पर दबाव पड़ेगा. भारत के घरेलू बाजार में कई चीजें महंगी हो जाएंगी. इस फैसले के तुरंत बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चा तेल महंगा हो गया है. अंतरराष्‍ट्रीय मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतों में तेजी आने पर तेल कंपनियां पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा सकती हैं.

बता दें की अब भारत को कच्चा तेल खरीदने के लिए ज्यादा रकम चुकानी होगी. लिहाजा घरेलू बाजार में पेट्रोल और डीजल ज्यादा महंगे हो जाएं. अंतरराष्‍ट्रीय मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतों में तेजी आने पर तेल कंपनियां पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा सकती हैं, जिससे भारत के आम आदमी की मुश्किलें बढ़ेंगी. डीजल के दाम बढ़ने से जहां मालभाड़ा महंगा होगा. वहीं, पब्लिक ट्रांसपोर्ट की लागत में भी इजाफा होगा.

बता दें की घरेलू बाजार में पेट्रोल और डीजल ज्यादा महंगे हो जाएंगे. ऐसे में पेट्रोल-डीजल खरीदने के लिए आपको ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे. इससे फल, सब्‍जी और राशन आदि की कीमतों में तेजी आएगी. इसके अलावा हवाई ईंधन एटीएफ  महंगा होने से किराया बढ़ सकता है. गौरतलब है कि समझौते पर दस्तख़त करने वाले ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने राष्ट्रपति ट्रंप से इस समझौते से अलग न होने की अपील की थी. 

व्यापार को बढ़ावा देने के लिए मिलेंगे ट्रम्प और जिनपिंग

अमेरिका में रोबोट ने की सर्जरी

अफगानिस्तान में इंजीनयर के बाद अब मजदूरों को किया अगवा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -