चीन के दावे हुए झूठे, ठीक हुए लोगों में नजर आए ये घातक लक्षण

चीन के दावे हुए झूठे, ठीक हुए लोगों में नजर आए ये घातक लक्षण

दुनिया में सबसे पहले चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस का मामला सामने आया था. लेकिन इस देश ने कोरोना को नियंत्रित कर लिया था. वही, वायरस को लेकर चीन एक बार फिर परेशान नजर आ रहा है. चीन की राष्ट्रीय समाचार एजेंसी सीसीटीवी के मुताबिक यहां ठीक हो चुके 10 प्रतिशत लोगों में फिर से कोरोना के लक्षण दिखे हैं.

WHO पर भड़के डोनाल्ड ट्रम्प, कहा- 'कोरोना वायरस के मुद्दे पर चीन का बहुत ज्‍यादा पक्ष लिया '

रिपोर्ट्स के अनुसार ठीक हो चुके 74051 लोगों में से 10 प्रतिशत लोगों में एक बार फिर से कोरोना के पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. वायरस को लेकर विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि आयातित मामलों की बढ़ती संख्या के साथ-साथ वे लोग जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखे थे, उनकी वजह से चीन में एक बार फिर से कोरोना का प्रकोप देखने को मिल सकता है.

दुनिया के 10 देशों में चल रहा 'कोरोना' जैसा वायरस फ़ैलाने वाला 'मीट मार्केट'

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कोरोना वायरस का मुख्य केंद्र रहे चीन के हुबेई प्रांत से दो महीने का लॉकडाउन हटाने के बाद अब लाखों लोग अपने घर लौटने वाले हैं. ऐसे में वुहान के एक अस्पताल के डॉक्टर के मुताबिक ठीक हो चुके 147 मरीजों में से पांच के अंदर फिर से कोरोना के लक्षण दिखे हैं. वहीं यहां के कुछ अधिकारियों ने सरकार द्वारा जांच में की गई खामियों पर सवाल उठाये हैं, उन्होंने कहा है कि हो सकता है इन मरीजों के टेस्ट को पहले नेगेटिव बताया गया हो और इन्हें छोड़ दिया गया हो. बता दें कि चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ आयोग के मुताबिक यहां कुल 81285 मामले पाए गए थे जिसमें 3287 मौतें हुई थी और 74051 लोगों के ठीक होने की बात कही गई थी.

इस देश में जानबूझ कर वायरस फैलाने वाले को माना जाएगा आतंकी

आखिर क्यों बहुत कम समय में गिर गई एल्बिन कुर्ती सरकार ?

ऑस्ट्रेलिया में इस कारण क्रूज को नही मिली लंगर डालने की इजाजत