आज़म खान की जौहर यूनिवर्सिटी में पुलिस ने मारा छापा, ये है पूरा मामला

Jul 30 2019 05:07 PM
आज़म खान की जौहर यूनिवर्सिटी में पुलिस ने मारा छापा, ये है पूरा मामला

रामपुर: जमीनी घोटाले की जांच के लिए जौहर यूनिवर्सिटी में पुलिस ने रेड मारी है. जानकारी के अनुसार, पुलिस आज यूनिवर्सिटी के लाइब्रेरी में पहुंची थी, जहां उन्होंने छापेमारी की कार्यवाही शुरू की. आपको बता दें कि रामपुर के 26 किसानों ने जौहर यूनिवर्सिटी के चांसलर आजम खान पर जबरदस्ती उनकी भूमि पर कब्जा करने का इल्जाम लगाया है, जिसके बाद यूपी सरकार ने इस पूरे मामले पर कड़ी कार्रवाई शुरू कर दी है. 

जौहर यूनिवर्सिटी के विरुद्ध राज्य प्रशासन ने कई मामले दर्ज कर लिए हैं. अब तक मिली जानकारी के अनुसार, मदरसा आलिया की किताबों की गुमशुदगी को लेकर छापेमारी की यह कार्यवाही की गई थी. जौहर यूनिवर्सिटी परिसर के भीतर बने मुमताज सेंट्रल लाइब्रेरी में सीओ अहित पुलिस अधिकारी जांच कर रहे हैं. बता दें कि हाल ही में रामपुर के एडीएम ने यूनिवर्सिटी के भीतर से गुजर रही सड़क से अनाधिकृत कब्जा हटाने के लिए कहा था. 

वहीं एक कोर्ट ने यूनिवर्सिटी की सात एकड़ जमीन के पट्टे को रद्द कर दिया था. इसके अलावा प्रशासन ने आजम खान को मुआवज़े के रूप में 3 करोड़ 27 लाख 60 हजार देने के लिए कहा है. आजम खान को कब्जा मुक्त होने तक 9,10,000 रुपए हर महीने की दर से लोक निर्माण विभाग को देने का आदेश दिया है, जिसको लेकर आजम खान ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है, जिसकी सुनवाई कल कि जाएगी. 

उत्तर प्रदेश में 5 सालों में चार लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य

आर्थिक सुस्ती के गिरफ्त में ट्रांसपोर्ट व्यवसाय

विश्व के सर्वश्रेष्ठ CEO की लिस्ट में मुकेश अंबानी समेत 10 भारतीय शामिल