हमारे पास पर्याप्त पानी है, बस उसे पहुंचाने की समस्या हैः उत्तर प्रदेश

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड में पानी की किल्लत को देखते हुए केंद्र सरकार से मदद मांगी थी। इसके बाद केंद्र ने मदद के लिए जो ट्रेनें भेजी, उसमें पानी ही नहीं था। इसके बाद उतर प्रदेश सरकार दिनभर इसी असमंजस में फंसी रही कि टैंकर का क्या किया जाए। काबीना मंत्री शिवपाल यादव और मुख्य सचिन आलोक रंजन द्वारा इस मदद को अस्वीकार कर दिया गया।

लेकिन इसके बाद सोशल मीडिया पर टैंकर के खाली होने की खबर को देखकर जब मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने झांसी के जिलाधिकारियों को जांच के निर्देश दिए तो टैंकरों की जांच की गई, जिसमें वो खाली पाए गए। इससे पहले सीएम ने खुद ट्वीट कर बताया था कि उन्होने केंद्र से 10 खाली टैंकरों की मांग की थी।

केंद्र द्वारा रतलाम से पानी भरे जाने संबंधी मीडिया में आई खबरों को लेकर शिवपाल यादव ने कहा कि प्रदेश को बाहर से पानी मंगाने की जरुरत नहीं है। जब जरुरत होगी तब पानी मंगा लिया जाएगा। कोई इस तरह से पानी भेजेगा, तो हम उसे कहां रखेंगे। मुख्य सचिव आलोक रंजन ने भी टैंकर भेजे जाने को अनाीवश्यक बताया है।

उन्होने कहा कि हमें पानी की ऐसी दिक्कत नहीं है कि हम रेल से बाहर से पानी मंगवाएं। पानी का प्रबंध हम खुद करेंगे। हमारी मांग खाली टैंकरों की ही थी। पानी की समस्या नहीं है, बस उसे पहुंचाने की समस्या है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -