टीवी चैनलों पर दिखाए जा रहे ओपिनियन पोल पर सपा ने जताई आपत्ति, जानिए पूरा मामला

लखनऊ: आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर राज्यों में राजनीतिक हलचल काफी बढ़ गई है इस बीच सपा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर टेलीविज़न चैनलों पर दिखाए जा रहे ओपिनियन पोल पर आपत्ति व्यक्त करते हुए पाबंदी लगाने की मांग की है। इन दिनों टेलीविज़न चैनलों पर उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर निरंतर सर्वे किए जा रहे हैं जिसमें बीजेपी को राज्य में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाते हुए दिखाया जा रहा है। 

हालांकि, सर्वे में समाजवादी पार्टी के हालात भी निरंतर मजबूत होते हुए दिखाई दे रहे है। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने ओपिनियन पोल पर प्रतिबंध लगाने की मांग करते हुए आयोग को चिट्ठी लिखी है। वही दूसरी तरफ रविवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने डोर टु डोर प्रचार में सपा के नारे 'नई सपा है...' पर हमला बोलते हुए कहा कि ये वही पार्टी है, जिससे जनता खफा है तथा 10 मार्च के पश्चात् अखिलेश यादव कहेंगे कि ईवीएम बेवफा है।

उन्होंने भारतोय जनता पार्टी में सम्मिलित हुईं अपर्णा यादव, अदिति सिंह और संयुक्ता भाटिया के साथ प्रचार करते हुए बयान दिया कि अखिलेश यादव प्रतिदिन प्रेस कांफ्रेंस तो करते हैं लेकिन समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों की प्रथम सूची आने के पश्चात् दूसरी सूची नहीं आई है क्योंकि इस सूची में 'जेल वाले हैं या फिर बेल वाले...', समाजवादी पार्टी गठबंधन वाले दिखाई नहीं दे रहे हैं। जनता समाजवादी पार्टी का राज भूली नहीं है इसलिए उम्मीदवारों को छिप-छिपकर टिकट दिए जा रहे हैं।

NCP सांसद अमोल कोल्हे ने फिल्म में निभाई 'गोडसे' की भूमिका, मचा बवाल

ओडिशा पंचायत चुनाव: 2.29 लाख से अधिक नामांकन पत्र दाखिल

कांग्रेस ने जितिन प्रसाद को भाजपा में जाने से क्यों नहीं रोका ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -