काले धन का खुलासा ना करने वाले परिणाम के लिए रहे तैयार

काले धन का खुलासा ना करने वाले परिणाम के लिए रहे तैयार

नई दिल्ली : काले धन के खुलासे को लेकर सरकार कड़ा रुख अपनाने में लगी हुई है, साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि इस मामले को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली भी रोष में है. इस मामले को लेकर हाल ही में वित्त मंत्री ने यह कहा है कि जिन लोगों ने भी समय रहते काले धन और सम्पत्ति का खुलासा किया है और साथ ही वे इसके लिए जुर्माने को भर रहे है उनके साथ किसी तरह का उत्पीड़न का बर्ताव नहीं किया जायेगा. लेकिन साथ ही उन्होंने इस बात की चेतावनी देते हुए यह भी कहा है जिन भी लोगों को काले धन और सम्पत्ति को लेकर खुलासा नहीं किया यकीनन उसके खिलाफ कड़े कदम उठाये जायेंगे और इस मामले में उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. और साथ ही इसके तहत ना केवल जुर्माना लगाया जायेगा बल्कि साथ ही मुकदमा और मनी लॉन्ड्रिंग रोधी कानून के तहत सम्पत्तियों को भी जब्त किया जायेगा.

इसके तहत यह बात भी सामने आ रही है कि ऐसे लोगों के खिलाफ जल्द ही छापेमारी की तैयारी की जा रही है. गौरतलब है कि मामले को धयान में रखते हुए पहले ही सरकार के द्वारा यह कहा गया था कि जिन लोगों को सम्पत्ति की घोषणा करने पर उत्पीड़न का शिकार होने का डर बना हुआ है वे सम्पत्ति का खुलासा बेझिझक कर सकते है. साथ ही आपको इस बारे में सुचना भी दे दे कि काले धन की समस्या से निपटने के लिए अघोषित विदेशी आय और आस्ति (कर अधिरोपण) कानून, 2015 को भी लागू किया जा चूका है और इस नए कानून के तहत संपत्ति की घोषणा ना करने वालों पर 120 फीसदी जुर्माने के साथ ही 10 साल की जेल का प्रावधान रखा गया है.