जघन्य अपराध होने के बाद भी नहीं सुधरी खाकी, उन्नाव पुलिस ने महिला से कहा- 'जब रेप होगा तब आना'

जघन्य अपराध होने के बाद भी नहीं सुधरी खाकी, उन्नाव पुलिस ने महिला से कहा- 'जब रेप होगा तब आना'

उन्नाव: आरोपियों द्वारा जलाई गई उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद जहां पूरे देश में आक्रोश है, वहीं उन्नाव पुलिस अपने उसी पुराने लापरवाह रवैये पर कायम है। जानकारी के अनुसार, हिंदूपुर गांव, जहां उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को आरोपियों ने जलाया था, वहां की एक महिला ने शनिवार को इल्जाम लगाया कि पुलिस ने दुष्कर्म की कोशिश की उसकी शिकायत दर्ज करने से मना कर दिया।

कथित तौर पर पुलिस ने महिला से कहा कि जब बलात्कार हो उसके बाद आना, तभी शिकायत दर्ज होगी। पुलिस स्टेशन में पुलिस ने महिला से कहा, "दुष्कर्म तो हुआ नहीं, जब होगा तब आना।" महिला ने बताया कि कुछ माह पूर्व गांव के ही तीन लोगों ने उसके साथ बलात्कार करने का प्रयास किया था। महिला ने कहा है कि, "मैं अपनी दवाई लेने जा रही थी। तभी तीन लोगों ने मुझे रोका और मेरे कपड़े खींचने लगे। उन्होंने मेरे साथ रेप करने का भी प्रयास किया।"

इसके बाद जब वह शिकायत करने पुलिस के पास गई, तो पुलिस ने उसे टरका दिया और रेप होने के बाद आने के लिए कहा। महिला ने बताया है कि वह तीन महीने से थाने के चक्कर काट रही है, किन्तु किसी ने भी मामले की सुनवाई नहीं की। महिला ने कहा कि, "घटना के बाद, मैंने 1090 (महिला हेल्प लाइन) पर कॉल किया और उन्होंने मुझे 100 डायल करने को कहा, लेकिन पुलिस ने मेरी एक नहीं सुनी।

मायावती का ऐलान, कहा- NRC मुद्दे पर अपने पुराने स्टैंड पर ही कायम रहेगी बसपा

पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें उड़ा देंगी आपके होश, जानिए क्या है आज के रेट

सेना पर साइबर हमला, इन पड़ोसी देशों के हाथ होने की संभावना