उन्नाव मामला: ड्राइवर-क्लीनर का होगा नार्को टेस्ट और ब्रेन मैपिंग, अदालत ने CBI को दी अनुमति

Aug 10 2019 08:27 AM
उन्नाव मामला: ड्राइवर-क्लीनर का होगा नार्को टेस्ट और ब्रेन मैपिंग, अदालत ने CBI को दी अनुमति

लखनऊ: सीबीआई के विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट सुब्रत पाठक ने रायबरेली में उन्नाव दुष्कर्म मामले की पीड़िता की कार दुर्घटना मामले में निरुद्ध ट्रक ड्राइवर आशीष कुमार पाल और क्लीनर मोहन श्रीवास का नार्को टेस्ट, ब्रेन मैपिंग टेस्ट और ब्रेन फिंगर प्रिन्टिंग टेस्ट विधिनुसार कराने की इजाजत सीबीआई जांच टीम को दे दी है। 

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को सीबीआई के डिप्टी एसपी राम सिंह ने अभियुक्तों का यह सभी टेस्ट कराए जाने की इजाजत मांगी थी। उन्होंने कहा था कि इस मामले की विवेचना के लिए आरोपितों की यह सभी टेस्ट कराया जाना बेहद जरुरी है। उन्होंने यह आदेश सीबीआई जांच टीम की अर्जी और आरोपितों की सहमति पर दिया है। इसके साथ ही आरोपितों को 14 अगस्त की चार बजे तक सीबीआई की हिरासत में सौंपने का भी आदेश दिया है। 

उन्नाव दुष्कर्म मामले में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आरोपी MLA कुलदीप सेंगर के खिलाफ दुष्कर्म, पॉक्सो, अपहरण की धाराओं में आरोप तय किए हैं। इससे पहले अदालत की तरफ से जारी प्रोडक्शन वारंट के बाद कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पेश किया गया था जिसके बाद अदालत ने सेंगर को तिहाड़ जेल भेजे जाने का आदेश दिया था। फिलहाल कुलदीप सिंह सेंगर तिहाड़ जेल में कैद है।

66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार : आयुष्मान-विक्की को मिला बेस्ट एक्टर अवॉर्ड, जानिए पूरी लिस्ट

असम NRC: 40 लाख लोगों में से कितने जाएंगे बांग्लादेश, फैसले में 22 दिन शेष !

पंजाब विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकार किया AAP विधायक एचएस फुलका का इस्तीफा