आतंकी संगठन 'तालिबान' को संयुक्त राष्ट्र की दो टूक, कहा- पत्रकारों पर हमला बंद कर दें वरना...

जेनेवा: संयुक्त राष्ट्र (UN) ने शुक्रवार को अफगानिस्तान में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने वाले प्रदर्शनकारियों को आतंकी संगठन तालिबान द्वारा निशाना बनाए जाने पर उसकी आलोचना करते हुए उसे चेतावनी दी है। UN ने कहा कि अफगानिस्तान में कई परिवारों को पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं मिल रहा है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय की प्रवक्ता रवीना शामदासनी ने कहा कि, 'हम तालिबान को सावधान करते हैं कि शांतिपूर्ण ढंग से विरोध प्रदर्शन करने वालों और विरोध प्रदर्शनों को कवर करने वाले पत्रकारों पर बल प्रयोग और मनमाने ढंग से उन्हें हिरासत में लेना फ़ौरन बंद करे।'

प्रवक्ता ने आगे कहा कि, अगस्त में तालिबानी आतंकी, भीड़ को तितर-बितर करने के लिए गोला-बारूद और चाबुक का उपयोग कर रहे थे, जिसमें कम से कम चार लोगों की जान चली गई थी। तालिबान ने 1996 से 2001 के शासनकाल की तुलना में अब की बार ज्यादा उदारवादी शासन का वादा किया है, मगर उन्होंने स्पष्ट संकेत दिए हैं कि वे विरोध प्रदर्शनों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस हफ्ते की शुरुआत में सशस्त्र तालिबान ने हेरात समेत पूरे अफगानिस्तान के शहरों में सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर कर दिया, जहां दो लोगों की गोली मारकर क़त्ल कर दिया गया।

शमदासानी ने आगे कहा कि मानवाधिकार कार्यालय को भी ख़ुफ़िया रिपोर्ट मिली थी कि तालिबानी बंदूकधारियों ने गत माह राष्ट्रीय ध्वजारोहण समारोह के दौरान भीड़ को तितर-बितर करने के प्रयास में एक व्यक्ति और एक लड़के की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उन्होंने कहा कि बुधवार को कम से कम पांच पत्रकारों को अरेस्ट किया गया और दो को कई घंटों तक बेरहमी से पीटा गया।

ऑस्ट्रेलिया में फिर बढ़ने लगा कोरोना, क्वींसलैंड में लग सकता है लॉकडाउन

इजराइल ने फिर दबोचे 4 फलीस्तीनी कैदी, जेल तोड़कर हुए थे फरार

जापान के लोकप्रिय वैक्सीन मंत्री कोनो अगले नेता की दौड़ में हुए शामिल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -