यह है दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश, यहां आने वालों को मिली क्वारंटाइन में छूट

Jul 03 2020 04:00 PM
यह है दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश, यहां आने वालों को मिली क्वारंटाइन में छूट

इंग्लैंड में जाने का सोच रहे लोगों के लिए राहत की खबर है. इस देश में आने वाले लोगों को क्वारंटाइन में बड़ी राहत प्राप्त हुई है. लेकिन इस प्रक्रिया का लाभ केवल 50 देशों को मिलने वाला है. बता दे कि शुक्रवार को इसकी जानकारी परिवहन मंत्री ग्रांट्स शाप्स ( Grant Shapps) ने दी. उन्होंने मीडिया को कहा कि , '50 से अधिक देशों का नाम इस लिस्ट में शामिल किया जाएगा.' मौजूदा नियमों के तहत पर्यटकों को देश में आने के बाद स्वत: 14 दिनों के लिए आइसोलेट किए जाने की आवश्यकता है. वहीं ब्रिटेन ने यूनान के लिए किसी तरह की छूट का ऐलान नहीं किया है. यानि यूनान से आने वाले पर्यटकों के लिए क्वारंटाइन नियमों में किसी तरह की ढील नहीं दी जाएगी.

कोरोना मरीजों पर पैनी नजर रखेगा ये अनोखा सेंसर युक्त उपकरण

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 10 जुलाई से सेल्फ आइसोलेशन में छूट प्रारंभ होने वाली है. जिनमें स्पेन ( Spain) , फ्रांस ( France) , इटली (Italy) और जर्मनी (Germany) जैसे देशों के नाम शामिल किए गए है . शाप्स ने आगे कहा कि , 'हमने यह काफी सतर्कता और एहतियात के साथ किया है और महत्वपूर्ण यह है कि हमें जो फायदा मिला है उसे हम बरकरार रखें. ' हालांकि ब्रिटिश एयरवेज ने परिवहन मंत्री के इस फैसले को बेतुका करार दिया है. 

पाक में मंदिर निर्माण के खिलाफ उतरा सत्ताधारी दल, कहा- ये 'इस्लाम' के खिलाफ

बीते वर्ष के समाप्त होने से पहले चीन में कोरोना ने दस्तक दे दी थी. जिसके बाद चीन  ने वायरस पर काबू पा लिया. लेकिन दुनिया के अन्य देश वायरस की चपेट में अब तक है. फिलहाल पूरी दुनिया के 213 देशों को कोरोना ने अपने चपेट में ले लिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, 2 जुलाई गुरुवार तक ब्रिटेन में कोविड-19 से संक्रमित कुल 3 लाख 13 हजार मामले हैं जिसमें से 43 हजार 9 सौ 6 लोगों की मौत हो चुकी है. बता दें कि ब्रिटेन भी कोरोना वायरस के खात्मे के लिए वैक्सीन विकसित करने में जुटा है.

नहीं मान रहा चीन, लगातार कर रहा युद्धाभ्यास, अब अमेरिका ने दी कड़ी चेतावनी

पीएम मोदी के लेह दौरे से तिलमिलाया चीन, कहा - कोई भी पक्ष माहौल ना बिगाड़े

ट्रम्प ने किया एलान, फिर से खोला जाएगा महामारी प्रतिक्रिया कार्यालय