केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने लॉकडाउन पर बोली ये बात

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने लॉकडाउन पर बोली ये बात

पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा देश भर में लॉकडाउन के फैसले की वकालत करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि यह फैसला देश हित में लिया गया, हमारे हित में लिया गया है. प्रेस कांफ्रेंस में सोशल डिस्‍टेंसिंग के बारे में बताते हुए जावड़ेकर ने कहा, ‘पत्रकार वार्ता में भी सब दूर-दूर बैठे हैं नजदीक रहने के लिए दूर-दूर बैठना जरूरी है.’

सुकमा में इस वजह से हुई थी जवानों की हानि

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि केंद्र सरकार ने लोगों को राशन कम कीमत में मुहैया कराने की घोषणा की. प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में देश के 80 करोड़ लोगों को कम कीमत पर अनाज देने का फैसला किया गया है. कैबिनेट बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस बात की जानकारी प्रेस कांफ्रेंस में दी. इसके अनुसार, देश के 80 करोड़ जनता को कम कीमत पर राशन मुहैया कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार देश के 80 करोड़ लोगों को हर महीने 7 किलो प्रति व्यक्ति राशन देगी. केंद्रीय मंत्री ने कांफ्रेंस में कहा कि सरकार ने 80 करोड़ लोगों को 27 रुपये प्रति किलो वाला गेहूं- 2 रुपये प्रति किलो, 37 रुपये प्रति किलोग्राम चावल- 3 रुपये प्रति किलो देने का फैसला किया है.

इस वजह से कॉमेडियन ट्रेवर नोआह का इंडिया टूर हुआ पोस्टपोन

इस मामले को लेकर उन्‍होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार रात देश में लॉकडाउन की घोषणा की तब देश भर में लोगों ने स्‍वीकार भी किया और स्‍वागत भी किया. क्‍योंकि 130 करोड़ की आबादी के लिए देश दुनिया के अनुभव को समझकर कोरोना से बचने के लिए लॉकडाउन का फैसला जरूरी था.’ इस बीमारी से लड़ने के लिए उन्‍होंने एहतियात बरतने को कहा. उन्‍होंने कहा कि इसके लिए चार बातें मुख्‍य तौर पर फॉलो करना चाहिए. उन्‍होंने बताया कि घर के भीतर रहे, किसी भी काम होने बाद हाथ धोएं. साबुन से धो लें हर बार सैनिटाइजर की जरूरत नहीं. बुखार, कफ, सर्दी जैसी तकलीफ होने पर डॉक्‍टर के पास जाएं. इसके अलावा सोशल डिस्‍टेंसिंग की प्रक्रिया अपनाएं.

​​इन एयर होस्टेस के बल पर कोरोना वायरस से बचकर वापस लौटे 263 भारतीय

कोरोना वायरस के भय में इस बीमारी के शिकार न हो जाए आप

सामने आया 'कोरोना' का सबसे बड़ा तोड़, वैज्ञानीक भी रह गए हैरान