केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को देर रात मिली जमानत, दिनभर चलता रहा हाई वोल्टेज ड्रामा

मुंबई: केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को कोर्ट ने जमानत दे दी है. हालांकि, उन्हें अगले सप्ताह 30 अगस्त और 6 सितंबर को रायगढ़ में पेश होने के लिए कहा गया है. पहले अदालत ने राणे को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया था. नारायण राणे को सीएम उद्धव ठाकरे को 'थप्पड़' मारने वाले बयान को लेकर अरेस्ट किया गया था. जिसके बाद रत्नागिरी अदालत से अग्रिम जमानत की याचिका खारिज हो गई थी.

यही नहीं बॉम्बे उच्च न्यायालय से भी केंद्रीय मंत्री को राहत नहीं मिली थी. जिसके बाद पुलिस ने नारायण राणे को मंगलवार को हिरासत में  लिया गया था. हालांकि, इसके कुछ ही देर बाद शाम 5 बजे के करीब उन्हें अरेस्ट भी कर लिया गया. इसके बाद नारायण राणे को महाड मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया गया. हालांकि, रात लगभग साढ़े 11 बजे उन्हें जमानत दे दी गई. राणे को 15,000 रुपये का जमानती मुचलका भरने और 30 अगस्त और 6 सितंबर को रायगढ़ में पेश होने के लिए कहा गया है. 

मामले की सुनवाई जज शेख बाबासो एस पाटिल ने की. कोर्ट ने पुलिस को केंद्रीय मंत्री की आवाज के सैंपल एकत्र करने से पहले सात दिन का नोटिस देने के लिए कहा है. वहीं नारायण राणे से किसी भी प्रकार का अपराध नहीं करने का निर्देश दिया है.  हालांकि ये सब कुछ इतना सरल भी नहीं था. मंगलवार को मुंबई में पूरे दिन हंगामा जारी रहा.  

सीएसआईआर-एनबीआरआई भर्ती खुलती है; रिक्ति की जांच करें, पात्रता विवरण

दिल्ली विश्वविद्यालय अगले शैक्षणिक वर्ष से एनईपी करेगा लागू

सूचना प्रौद्योगिकी शेयरों के नेतृत्व में सेंसेक्स और निफ्टी में आई गिरावट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -