केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने एचआईवी और टीबी पर जागरूकता फ़ैलाने का किया फैसला

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने गुरुवार को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर एचआईवी, तपेदिक (टीबी) और रक्तदान पर जागरूकता कार्यक्रम शुरू किया। स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव मनाते हुए राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन द्वारा स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

एक वर्चुअल कार्यक्रम में जागरूकता अभियान की शुरुआत करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने युवाओं से नागरिकों के लिए सरकार के स्वास्थ्य केंद्रित कार्यक्रमों में शामिल होने की अपील की। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- "मैं सभी युवाओं से अपील करता हूं कि आजादी के 75 साल के अवसर पर आइए हम संकल्प लें, दृढ़ संकल्प करें और देश के नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए सरकार के कार्यक्रमों में शामिल हों। हम दान को परम धर्म मानें। दूसरों की मदद करना हमारी परंपरा है और हमें उसका पालन करना चाहिए।"

उन्होंने आगे कहा कि एचआईवी और टीबी जैसी बीमारियों के साथ-साथ हमें रक्तदान के लिए जागरूकता पैदा करने की जरूरत है। हमें लोगों की जान बचाने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने रक्तदान पर जोर देते हुए कहा कि ''रक्तदान करना बहुत जरूरी है; यह दूसरों के जीवन को बचाने का कार्य है। यह काम युवा चंदा के रूप में कैंप लगाकर करते रहे हैं। रक्तदान करने, रक्त एकत्रित करने, जागरूकता पैदा करने के कार्य में युवा शामिल हैं।"

 

जब रथ लेकर अपने ही बेटे को मारने निकलीं थी अहिल्याबाई होल्कर...

कोरोना के साथ कर्नाटक पर अब जीका वायरस की मार

केरल के राज्यपाल आरिफ खान ने ज्वैलरी फर्मों को दी ये खास सलाह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -