केंद्रीय मंत्रिमंडल से आज तनावग्रस्त दूरसंचार क्षेत्र के लिए राहत पैकेज पर कर सकते है चर्चा

आज कैबिनेट की बैठक से पहले ऑटो शेयर पर फोकस होने वाला है। आज की कैबिनेट मीटिंग में तकरीबन 26 हजार करोड़ के PLI स्कीम को मंजूरी दी जा सकती है। इस बैठक में इलेक्ट्रिक व्हीकल पर खास जोर रहने का अनुमान लगाया जा रहा है। जिसके अतिरिक्त ड्रोन सेक्टर के लिए भी PLI स्कीम पर विचार भी किया जाने वाला है।

बुधवार यानी आज 15 सितंबर को होने वाली कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक में टेलीकॉम सेक्टर के लिए राहत पैकेज पर विचार किया जाने वाला है। जहां इस बात का पता चला है कि टेलीकॉम सेक्टर को राहत देनें के लिए दूरसंचार कंपनियों के स्पेक्ट्रम भुगतान पर कुछ वक़्त के लिये रोक लगाई जाने वाली है। इस तरह के कदम से वोडाफोन आइडिया जैसी दूरसंचार कंपनियों को बहुत राहत मिलेगी जिनपर पिछला बकाया हजारों करोड़ रुपये में है।

जी हां आज की कैबिनेट बैठक में टेलीकॉम के लिए राहत पैकेज पर विचार करने से साथ स्पेक्ट्रम छूट और बैंक गारंटी घटाने पर भी फैसला किया जा सकता है। आगे यह कहा जा रहा है कि Phase Out Levies में भी रियायत की संभावना है। साथ ही AGR केस में भी रियायत की संभावना है। हम बता दें कि वित्तीय संकट से जूझ रही वोडाफोन आइडिया लि. के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने 3 अगस्त को अपने पद से इस्तीफादे चुके है। जिसके तकरीबन 6 सप्ताह के उपरांत राहत पैकेज पर विचार किया जा सकता है। इतना ही नहीं ब्रिटेन की दूरसंचार कंपनी की इंडियन इकाई वोडाफोन इंडिया बौर बिड़ला की दूरसंचार कंपनी आइडिया सेल्यूलर लिमिटेड के विलय से वोडाफोन आइडिया कंपनी अस्तित्व में आ चुकी है। कंपनी पर गवर्नमेंट का 50,400 करोड़ रुपये का विभिन्न कार्यों का बकाया है।

यूपी में कोरोना के बाद डेंगू ने ढाया कहर, अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ी

पीएम मोदी ने सुनाया अलीगढ़ से जुड़ा अपने बचपन का किस्सा

राहुल गांधी के तंज पर बोले सीएम योगी- उपद्रवियों के साम्राज्य पर बुलडोजर चलाना नफरत है तो...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -