सफर से सबक ले ज़िन्दगी का

सफर से सबक ले ज़िन्दगी का

दौड़ती भागती ज़िन्दगी में हमारे आँखों से काफी कुछ छूट जाता है| नौकरी  और कमाई की रस्साकशी में हम कई बार ज़िन्दगी को बस नीरसता के साथ जीने लगते है| इसलिये ऐसी मशीनी ज़िन्दगी से हम जल्दी ऊबने लगते है| अगर आप की  ज़िन्दगी  ऐसे पड़ाव पर है जंहा ज़िन्दगी बोझिल लगने लगी है, तो अपनी ज़िन्दगी की नयी शुरुआत करने के  लिये कुछ दिन बहार घूमने का प्लान बनाये | ये अवसर आपको ज़िन्दगी को नए सीरे से जीने की पर्याप्त ऊर्जा देगा|

आइये जाने यात्रा आखिर ज़िन्दगी को क्या सिखाता है :- 

1 यात्रा जीवन में समय ,देश,काल और परिस्थिति के महत्त्व को सिखाता है |

2 यात्रा स्वयं के विस्तार और प्रकृति की और लौटने का मार्गक्रमण है |

3 यात्रा हमें  मानसिक बल्कि शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाती हैं। ये जीवन में संतुलन का महत्त्व सिखाती है |

4 जब आप यात्रा करते हैं तो आपको अहसास होता है कि आप अपनी कल्पना से कहीं अधिक सक्षम हैं। यात्रा आपकी बुद्धि को परिस्थिती भांपने और तदनुरूप कार्य करना सिखाती है |

5 जब आप घर से बाहर निकते हैं और दुनियां की नई-नई खूबसूरत चीजों से रूबरू होते हैं, तो आपको इस बात का अहसास होता है कि वाकई दुनिया कितनी खूबसूरत है। आपको ये सुंदरता एक नई प्रेरणा देती है, और आपके भीतर एक नई उम्मीद जगाती है। 

6 जब आप यात्रा करते है, तो आप किसी चीज की या आनंद की खोज में होते हैं। ऐसे में आप स्वयं से एवम परिस्थिती से लगातार संवाद कर उचित निर्णय लेने की क्षमता विकसित कर लेते है| आपकी सोच में भरपूर सकारात्मकता आ जाती है। यही कारण है कि सामान्य जीवन में जो लोग मदद करने की भावना नहीं रखते वे भी यात्रा के दौरान मददगार बन जाते हैं। 

7 परिवार या दोस्तों के साथ जब आप यात्रा में होते है, तो अपनों के बीच नयी जगह पर एडजस्ट होने की कोशिश करते है, तब आप खुद के साथ दूसरों की फ़िक्र और उन्हें ध्यान में रख काम करते है जिससे परस्पर सहयोग की भावना को बल मिलता है और दोस्तों और रिश्तेदारों को आपके प्यार का एहसास भी | इससे आपका मन से यकायक ही सारी चिंता और बोझ निकाल जाता है। और माहौल खुशनुमा हो जाता है। आप‍ खुद को खुश महसूस करते हैं।