भारत में शुरू हुई पहली अंडर वाटर मेट्रो ट्रैन, इस राज्य में कर सकते है सफर

भारत में शुरू हुई पहली अंडर वाटर मेट्रो ट्रैन, इस राज्य में कर सकते है सफर

विज्ञानं की तरक्की के साथ ही देश भी तरक्की कर रहा है पहले जहाँ एक स्थान से दूसरे स्थान तक यात्रा करने में कई दिनों का इंतज़ार करना पड़ता था अब वो यात्रा मिंटो में तय की जा सकती है इसी कड़ी में भारत में अब अंडर वाटर मेट्रो ट्रैन का आरम्भ हो चूका है और अगर आप भी ऐसी यात्रा का मज़ा उठाना चाहते है तो इसमें यात्रा जरूर करे देश में हुगली नदी के नीचे से मेट्रो ट्रेन चलने के लिए तैयार है। कोलकाता के हुगली नदी में मेट्रो ट्रेन का सभी कम पूरा हो गया है और इसे आम लोगों के लिए चालू भी कर दिया जायेगा। हुगली नदी के निचे से चलने वाली इस ट्रेन की ट्रैक लगभग 520 मीटर लम्बी और लगभग 30 मीटर गहरी बनाई गई है। खबरों के अनुसार यह ट्रेन पानी के सुरंग में लगभग 60 सेकंड का वक्त लगाएगी और दुसरे स्टेशन पहुच जाएंगी। खबरों के अनुसार 13 फरवरी, 2020 यानी आज देश की यह पहली अंडरवाटर मेट्रो ट्रेन दौड़ाने के लिए तैयार है। यह मेट्रो लाइन कोलकाता के ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर और साल्ट लेक सेक्टर 5 और हावड़ा के बीच चलेगी। इस मेट्रो लाइन को पूरी तरह से वर्ष 2021 में स्टार्ट किया जायेगा, क्योंकि अभी तक बाकी मेट्रो लाइन का काम चल रहा है।

फ़िलहाल ये मेट्रो कोलकाता के 6 मेट्रो स्टेशनों से होकर 12 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। इस मेट्रो ट्रेन को भारत में अपनी तरह की सबसे विशेष मेट्रो ट्रेन मानी जा रही है। वही इसकी बराबरी यूरोस्टार मेट्रो ट्रेन से की जा रही है। यूरोस्टार मेट्रो ट्रेन लंदन और पेरिस को जोड़ती है। एक अमूमन के तहत कहा जाता है कि यूरोस्टार मेट्रो लगभग दस मंजिला इमारत के बराबर नीचे से होकर गुजरता है। कोलकाता की मेट्रो ट्रेन भी कुछ इसी तरह का बनाई गई है। भारत की पहली अंडर वॉटर ट्रेन शीघ्र ही कोलकाता में हुगली नदी के नीचे चलना आरंभ होगी। उत्कृष्ट इंजीनियरिंग का उदाहरण यह ट्रेन देश में निरंतर हो रही रेलवे की प्रगति का प्रतीक है।

लॉकडाउन : देश में इन लोगों की वजह से फैल रहा कोरोना संक्रमण

अकेले यात्रा करने जा रही है तो इन बातो का जरूर रखे विशेष ध्यान

ट्रेन में यात्रा करना है पसंद तो इन लक्ज़री सफर का जरूर ले लुफ्त