कॉल ट्रेस कर सीबीआई ने होम मिनिस्टरी के अंडर सेक्रेटरी को गिरफ्तार किया

नई दिल्ली: कथित रुप से डिप्रेशन के शिकार गृह मंत्रालय के अंडर सेक्रेटरी आनंद जोशी को सीबीआई ने रविवार की शाम 5 बजे हिरासत में ले लिया। जांच एजेंसी द्वारा तीस्ता सितलवाड़ केस में पूछताछ के लिए तलब किए जाने के बाद से वो अपने घर से ही फरार थे। जाने से पहले वो अपनी पत्नी के नाम एक खत छोड़ कर गए थे। इस खत में जोशी ने अपने आरोपों का खंडन किया था और कहा था कि वो डिप्रेशन के शिकार है। उन्होने अपने आला अधिकारियों द्वारा उन्हें इस केस में फंसाए जाने का भी आरोप लगाया था। रविवार को सीबीआई ने उनके फोन को ट्रेस किया।

दिल्ली के तिलकनगर से उन्हें सीबीआई ने गिरफ्तार किया, इससे पहले उन्हें सीबीआई हेडक्वार्टर लाकर करीब 5 घंटे तक पूछताछ की गई। जोशी की गिरफ्तारी के कुछ ही देर बाद उनकी पत्नी अपने बेटे के साथ सीबीआई दफ्तर के बाहर पहुंच गई।

रात 9.30 बजे सीबीआई अधिकारी बाहर आए औऱ उनकी पत्नी से जांच में सहयोग करने का अनुरोध करते उन्हें घर जाने को कहा। जोशी पर गैर सरकारी संगठनों को अवैध तरीके से मदद पहुंचाने का आरोप है। आनंद जोशी गुजरात की गुलबर्ग सोसायटी में म्यूजियम बनाने के नाम पर इकट्ठा की गई राशि में कथित हेराफेरी मामले में आरोपी सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के साथ जांच के दायरे में हैं।

तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ से जुड़ी फाइलें भी गायब है। सीबीआई के अनुसार, जोशी विदेशी चंदा नियमन कानून एफसीआरए के मामलों से प्राप्त जानकारियों के जरिए ब्लैकमेलिंग करते थे। अब तक जोशी की गिरफ्तारी से लेकर उनसे पूछताछ होने तक के मामले में सीबीआई ने कुछ भी बोलने से इंकार किया है। जोशी को सोमवार को अधालत में पेश किया जाएगा। पूछताछ में जोशी ने कई खुलासे किए है, जिससे और कई बड़ी गिरफ्तारियों की उम्मीद है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -