संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षकों पर हमले

डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगों में संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षकों पर हमले में 15 शांतिरक्षकों की मौत हो गई. संगठन के इतिहास में यह सबसे भयानक हमला है. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने बताया कि ये शांतिरक्षक पड़ोसी देश तंजानिया से ताल्लुक रखते थे और उनकी हत्या गुरुवार देर रात उत्तरी कीवु प्रांत में कांगो के पांच सैनिकों के साथ कर दी गई. इस हमले में 53 कर्मी भी घायल हुए हैं. उन्होंने एक बयान में कहा, ' मैं इस हमले की स्पष्ट रूप से निंदा करता हूं.

संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षकों पर जान-बूझकर किया गया हमला अस्वीकार है, और यह युद्ध अपराध की श्रेणी में आता है.' डी आर कांगो का बड़ा पूर्वी इलाका लंबे समय से हिंसाग्रस्त है, लेकिन सरकारी सैनिकों एवं मिलिशिया समूहों के साथ ही आंतरिक-जातीय समूहों के बीच हो रही लड़ाई की वजह से इस साल हिंसा काफी बढ़ गया है.

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने घात लगाकर किए गए इस भयानक हमले पर गुस्सा जाहिर करते है उसे ' घृणित' कृत्य बताया है. लगातार हो रही हिंसात्मक घटना प्रान्त में आये दिन होती रहती है, लगातार इस तरह कि वारदातों से राज्य अशांत है ओर अराजकता का माहौल चारो ओर फैला है. शांति रक्षको कि मौत पर गहरा दुःख व्यक्त करते की खिलाफ तैयार रहने कहा.

यहाँ क्लिक करे 

मदरसों में पढ़ने वाले बच्चे मौलवी या आतंकी बनेंगे - पाक सेना प्रमुख

डालें एक नज़र आज की 10 बड़ी ख़बरों पर

कई पोलिंग बूथ्स पर खराब हुईं ईवीएम मशीन्स

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -