उमर-अनिर्बान को विश्वविद्यालय से किया निष्कासित

Apr 26 2016 11:19 AM
उमर-अनिर्बान को विश्वविद्यालय से किया निष्कासित

नई दिल्ली : दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में 9 फरवरी को हुई देशविरोधी नारेबाजी को लेकर छात्र नेता उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को विश्वविद्यालय से निष्कासित कर दिया गया है। मगर इसके विरूद्ध उन्होंने कहा है कि उन्हें यह निर्णय अस्वीकार है। उच्च स्तरीय जांच समिति की जांच हास्यास्पद है। छात्र संघ द्वारा इस मसले पर देशव्यापी अभियान चलाने की धमकी दी गई।

जवाहरलाल नेहरू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार द्वारा कहा गया कि हास्यास्पद जांच के आधार पर की जाने वाली दंडात्मक कार्रवाई वे अस्वीकार कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने 10 हजार रूपए का जुर्माना आरोपित किया था। कन्हैया ने इस मामले में ट्विटर पर लिखा कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संगठन हास्यास्पद समिति के आधार पर प्रशासन द्वारा दंड दिए जाने को खारिज करता है।

यही नहीं उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य पर आरोप लगाया गया है कि प्रशासन की कार्रवाई आरएसएस की शह पर परेशान करने जैसी बताई गई है। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय ने 9 फरवरी को विवादास्पद कार्यक्रम के मामले में कन्हैया पर करीब 10 हजार रूपए का जुर्माना लगाया था। इस मामले में विद्यार्थियों ने अपना जवाब भी प्रोक्टर को दिया था। प्रोक्टर ने इस बात की अनुशंसा की थी कि करीब 3 विद्यार्थियों को निकाला जाना चाहिए जबकि दूसरे छात्रों से फाईन लिया जाना चाहिए।