उद्धव ठाकरे ने बताई भाजपा और शिवसेना के गठबंधन की खास वजह

मुंबई : लोकसभा चुनावों से पहले सभी पार्टियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है और वही इसी बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलवार शाम कहा कि वह भाजपा के साथ हाथ मिलाने को इसलिए राजी हुए हैं क्योंकि भगवा पार्टी का अपने गठबंधन सहयोगियों के प्रति व्यवहार में बदलाव आया है। ठाकरे अपने आवास पर शिवसेना कार्यकर्ताओं से बातचीत कर रहे थे।

पूर्व पत्नी रेहम का बड़ा बयान, सेना की कठपुतली है इमरान

यह बोले उद्धव ठाकरे

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार शिवसेना और भाजपा ने सोमवार को घोषणा की कि वे लोग लोकसभा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ेंगे। ठाकरे ने कहा, मैंने महसूस किया कि लोगों के प्रति उनके व्यवहार में बदलाव आया है, इसलिए मैंने भाजपा से हाथ मिलाने का फैसला लिया। साथ उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भाजपा का यह प्रस्ताव उन्हें मंजूर नहीं है कि जिस पार्टी के ज्यादा विधायक होंगे उसका मुख्यमंत्री होगा। 

पुलवामा हमला : आतंकवाद पर अलग-थलग पड़ा पाक, न्यूजीलैंड की संसद में निंदा प्रस्ताव हुआ पास

ऐसे हुआ सीटों का बंटवारा 

प्राप्त जानकारी के अनुसार उन्होंने कहा, मैं शिवसेना का मुख्यमंत्री देखना चाहता हूं। और मैं इसके लिए काम करूंगा। ठाकरे ने कहा कि समझौते में मैं जीत चुका हूं और अब असल लड़ाई, चुनाव जीतना है। जानकारी के लिए बता दें महाराष्ट्र से 48 सदस्यीय लोकसभा में भाजपा 25 तो शिवसेना 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। 288 सीट सदस्यीय विधानसभा में दोनों दल अपने सहयोगियों को सीट देने के बाद बची हुई सीट पर भी बराबर की संख्या में चुनाव लड़ेंगे। राजनीतिक हलके में इसे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की बड़ी जीत के रूप में देखा जा रहा है।

नांदेड़ में रैली के साथ लोकसभा चुनाव का आगाज करेगी कांग्रेस और एनसीपी

तमिलनाडु में मिलकर चुनाव लड़ेगी अन्नाद्रमुक और बीजेपी

देश में बिना रोजगार के अवसर पैदा किए विकास हो रहा है : राहुल गांधी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -