महात्मा गांधी का आपत्तिजनक वीडियो फैलाने पर Whatsapp ग्रुप का एडमिन गिरफ्तार

Aug 29 2015 06:20 PM
महात्मा गांधी का आपत्तिजनक वीडियो फैलाने पर Whatsapp ग्रुप का एडमिन गिरफ्तार

देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आपत्तिजनक वीडियो जारी करने पर दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इस वीडियो में महात्मा गांधी की प्रतिमा को जूते-चप्पलों से पीटते हुये दिखाया गया था.मामला है छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले का.जहा मनीष जयसवाल नाम के युवक ने वाट्सअप पर 'ये हैं अश्लील लड़के' नाम से ग्रुप बनाया है. जिसमें जुड़े 19 साल के आयुष यादव ने 26 अगस्त को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का आपत्तिजनक वीडियो डाल दिया.

उसी ग्रुप में जुड़े ग्रुप के ही एक सदस्य ने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई.पुलिस ने तुरंत मामले को संज्ञान में लेते हुए पूरे मामले की जांच की. जिसके बाद मनीष और आयुष को गिरफ्तार कर लिया गया है. दोनों के खिलाफ IT एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है. पुलिस की साईबर सेल के मुताबिक ऐसे मामलों में ग्रुप का एडमिन ही सबसे बड़ा दोषी माना जाता है.

इसलिए कानून के मुताबिक अगर इस तरह के मैसेज में जिसमें अफवाह फैलाना, सांप्रदायिक उन्माद और अपमानजनक मैसेज फैलाने वाले ग्रुप का एडमिन ही दोषी माना गया है.वाट्सअप पर ये पता लगाना मुश्किल होता है कि ओरि.जनल पोस्ट किसकी है.ओर इसका सोर्स क्या है.