20% तक घटी टॉप मॉडल्स की सेल्स, रि‍कवरी नही कर पाई टू-व्हीलर इंडस्ट्री

देश मे जब नोटबंदी की समस्या चल रही थी जिसके कारण सारा बाजार ठप हो गया था। लेकिन अब नोटबंदी को खत्म हुए करीब दो महीने से ज्यादा समय बीत चुका है लेकिन अब भी कंपनी अपने घाटे की रिकवरी नही कर पाई है जिससे कंपनी को लगभग 20 फीसदी तक घाटे का सामना करना पड़ रहा है। जनवरी में भी टू-व्‍हीलर की टोटल सेल्‍स में 7.39 फीसदी की गि‍रावट दर्ज की गई। जिससे टॉप बाइक्‍स और स्‍कूटर्स की सेल्‍स में 20 फीसदी से ज्‍यादा की कमी दर्ज की गई है।

सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स के डीजी वि‍ष्‍णु माथुर का कहना है कि‍ कुछ सेगमेंट्स में नोटबंदी का असर अब धीरे-धीरे कम होता नजर आ रहा है लेकि‍न टू-व्‍हीलर सेगमेंट में इसका असर अब भी दि‍ख रहा है। नोटबंदी से रूरल मार्केट्स काफी प्रभावित हुई है और जिसकी रि‍कवरी मे थोड़ा और वक्‍त लग सकता हैं।

नोटबंदी के बाद भी टॉप 5 मॉडल्‍स में केवल टीवीएस एक्‍सएल सुपर की सेल्‍स पॉजि‍टि‍व में रही है। दि‍संबर माह में इसकी सेल 64,161 यूनि‍ट्स रही जबकि‍ पि‍छले साल यह आंकड़ा 56,521 यूनि‍ट्स था। और वही टीवीएस के स्‍कूटर जुपि‍टर की सेल 16 फीसदी गिरावट आई है। जबकि दि‍संबर में इसकी सेल 39,582 यूनि‍ट्स थी और इसका पहला आंकड़ा 47,217 यूनि‍ट्स था।  

 

केवल भारत में ही मर्सिडीज बनाती है सेडान, एनजीसी और एसयूवी कारें

वर्ष 2024 में होगी 1,38,089 ऑटोमेटिक कारों की बिक्री

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -