सफाई करने सीवर में उतरे दो कर्मचारियों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत, परिवार में मातम

नोएडा: देश की राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के फेज-2 स्थित होजरी कॉम्प्लेक्स में कंपनी के बाहर सीवर में सफाई करने के लिए उतरे दो कर्मचारियों की जहरीली गैस की चपेट में आने की वजह से मौत हो गई है। पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फेज-2 थाना प्रभारी ने बताया है कि होजरी कॉम्प्लेक्स स्थित सी-17 कपड़ा कंपनी के सामने सोमवार शाम बुलंदशहर के गांव बादशाहपुर के रहने वाले 30 साल का सोनू सफाई करने के लिए सीवर के भीतर चला गया।

इसी बीच सोनू सीवर में बन रही जहरीली गैस की चपेट में आ गया। गैस के प्रभाव में आने से सोनू बेसुध होकर सीवर में गिर पड़ा। जब अंदर कोई हलचल नहीं हुई तो दूसरे कर्मचारी ने झांककर देखा, तो उसे सोनू बेहोश पड़ा मिला। इस पर एटा के गांव चपराई सिकंदरपुर निवासी 46 वर्षीय श्याम बाबू सोनू को बचाने के लिए सीवर में उतरे। लेकिन वह भी जहरीली गैस की चपेट में आ गए और बेसुध हो गया। दोनों के बेसुध होने से मौके पर हड़कंप मच गया। आसपास के लोगों की सहायता से दोनों को जैसे-तैसे सीवर से बाहर निकाला गया। फिर उन्हें कुलेसरा स्थित अस्पताल में एडमिट करवाया गया। 

जहाँ डॉक्टरों ने सोनू को मृत घोषित कर दिया। जबकि श्याम बाबू की हालत नाजुक होने पर उसे सेक्टर-71 स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में एडमिट करा दिया। यहां इलाज के दौरान मंगलवार सुबह उनकी मौत हो गई। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचा दिया है। घटना के बाद पुलिस ने मृतक सफाईकर्मियों के परिवार वालों को इसकी सूचना दी। सूचना मिलने के बाद दोनों के परिजनों में मातम पसर गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

'स्वराज टू न्यू इंडिया': गृह मंत्री कल दिल्ली विश्वविद्यालय में संगोष्ठी को संबोधित करेंगे

ब्रिटेन के पाउंड में गिरावट के कारण ब्रिटेन की मुद्रास्फीति 40 साल के उच्च स्तर पर

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आपातकालीन जीवन समर्थन पर प्रशिक्षण मॉड्यूल को लॉन्च किया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -