गुजरात की ओर बढ़ा ओखी चक्रवात

By Mohan Joshi
Dec 03 2017 08:24 AM
गुजरात की ओर बढ़ा ओखी चक्रवात

नई दिल्ली : पिछले 48 घंटों में लक्षद्वीप और दक्षिण-पूर्व क्षेत्र अरब सागर में तबाही मचा चुका गंभीर चक्रवाती तूफान 'ओखी' के कहर का आतंक अभी दो दिन तक और रहने की संभावना है. फ़िलहाल यह 110 किलोमीटर पूर्वोतर में मिनिकोय द्वीप में स्थित है और अगले 24 घंटों के दौरान इसके और तेज होने और दक्षिणी गुजरात की ओर बढ़ने की सम्भावना है .कई राज्य सरकारों को सावधान किया गया है .

उल्लेखनीय है कि केरल और पड़ोसी तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिले में तूफान से सात और लोगों के मारे जाने के साथ ही मृतक संख्या बढ़कर 19 हो गई है.जबकि समुद्र में मछली पकड़ने गए कन्याकुमारी के 1000 मछुआरों के लापता होने की खबर है .यह 100 नावों की मदद से मछली पकडऩे चार दिन पहले समुद्र में उतरे थे. हालाँकि तटरक्षक दल ने लक्षद्वीप के 813, केरल के 531 और तमिलनाडु के 100 मछुआरों को बचाया है.वहीँ केरल के 900 मछुआरे महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग जिले के तट पर सुरक्षित पहुंच गए हैं.

बता दें कि ओखी अब सौराष्ट्र की तरफ बढ़ रहा है. मौसम विभाग की माने तो अगले दो दिनों में यह तूफान दक्षिणी गुजरात पहुंचेगा इसके तबाही मचाने के संकेत को देखते हुए तटवर्तीय राज्य सरकारों को सचेत किया गया है. अगले 24 घंटों में बहुत सी जगहों पर भारी वर्षा के साथ-साथ केरल में कई स्थानों पर अत्यधिक वर्षा की संभावना व्यक्त की गई है . इस तूफान का ओखी नाम बांग्लादेश ने दिया है जिसका अर्थ है नजर रखने वाला अथवा निगाह रखने वाला.

यह भी देखें

ओखी के कोप से डरे पर्यटक

इस कारण रोज होती है 15 मौतें