दिल्ली के व्यापारियों को ठगने के आरोप में तमिलनाडु के दो नागरिक गिरफ्तार

नई दिल्ली: आजकल धोखाधड़ी के मामलों में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है. हाल ही में नई दिल्ली में आर्थिक अपराध शाखा ने तमिलनाडु के दो लोगों को राष्ट्रीय राजधानी में 13.77 करोड़ रुपये के 40 से अधिक दुकानदारों को जाहिरा तौर पर धोखा देने के लिए हिरासत में लिया है. जंहा इस बात का पता चला है कि रमन मुरुगम और सुनधर राजन को दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) और दक्षिणी राज्य के कृष्णागिरी जिले की विशेष पुलिस टीम के संयुक्त अभियान में तमिलनाडु से गिरफ्तार किया गया था.

"आरोपियों ने खुद को तमिलनाडु के बड़े कपड़े व्यापारी के रूप में अपने संभावित ग्राहकों के लिए पेश किया . ईओडब्ल्यू के संयुक्त पुलिस आयुक्त ओपी मिश्रा ने कहा, उन्होंने पहले शिकायतकर्ताओं और अन्य पीड़ितों को अपना भरोसा जीतकर क्रेडिट पर सामान सप्लाई करने के लिए प्रेरित किया और बाद में इसके लिए दिए गए चेक का सम्मान नहीं किया . यह मामला तब सामने आया जब दिल्ली के गांधी नगर मार्केट के 47 दुकानदारों ने ईओडब्ल्यू में शिकायत दर्ज कराई. शिकायत में दुकानदारों ने बताया कि उन्होंने दो कंपनियों के व्यापारियों शिव कुमार, रवि पेया चेट्टी और श्री कामची ट्रेडर्स के वेंकटेशन और जय हनुमान ट्रेडर्स एंड कंपनी के सेंथिल कुमार को रेडीमेड गारमेंट्स बेचे गए थे.

उन्होंने इसे कमीशन एजेंटों रामजी और वेंकटरमण के माध्यम से 60-90 दिनों के लिए पोस्ट-दिनांक वाले चेकों के खिलाफ बेचा . हालांकि बैंक ने मूल रूप से पोस्ट-दिनांक वाले चेकों को मंजूरी दे दी, लेकिन ये बेइज्जत हो गए . 47 शिकायतकर्ताओं में से 8 ने श्री कामची ट्रेडर्स के रवि चेट्टी की मिलीभगत से राघवेन्द्र ट्रेडर्स, चिकपेट, बेंगलुरु के मालिक सुंधर राजन को कथित तौर पर ठगा गया. रामा मुरुगन ने सुंधर राजन के साथ एक व्यापारी के रूप में पेश किया था और व्यापारियों को धोखा देने के लिए बड़ी साजिश का हिस्सा होने का संदेह जताया है .

लालू यादव का शायराना वार, कहा- बिहार पर जो भार है, नितीश कुमार है

इस देश में शांति के लिए काम करेंगे भारत और ईरान, चीन को झटका

यूपी पुलिस और गुंडों के बीच हुई ताबड़तोड़ फायरिंग, 2 अपराधी गिरफ्तार

Most Popular

- Sponsored Advert -