केस दर्ज होने के बाद खुली Twitter की जुबान, कहा- बाल यौन शोषण पर हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति

नई दिल्ली: माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter ने कहा है कि बाल यौन शोषण (CSE) को लेकर उसकी नीति जीरो टॉलरेंस की है.Twitter के प्रवक्ता ने कहा कि हम ट्विटर के नियमों का उल्लंघन करने वाली सामग्री का सक्रिय रूप से पता लगाने और उसे हटाने का कार्य जारी रखेंगे और इस मुद्दे से निपटने के लिए भारत में कानून एजेंसियों और NGO के साथ मिलकर कार्य करेंगे.

 

दरअसल, Twitter का ये बयान ऐसे वक़्त में आया है जब दिल्ली पुलिस ने नोटिस जारी करते हुए उसके प्लेटफॉर्म पर बच्चों से संबंधित अश्लील सामग्री प्रसारित किए जाने के खिलाफ उठाए गए कदमों के संबंध में जानकारी मांगी है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि Twitter को मंगलवार को नोटिस जारी किया है. अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने Twitter के संबंधित अधिकारियों से उनके प्लेटफॉर्म पर मौजूद बच्चों के यौन शोषण से संबंधित सामग्रियों के खिलाफ उठाए गए कदमों और ऐसी सामग्री प्रसारित करने वाले एकाउंट्स के बारे में जानकारी देने के लिए कहा है.

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने इस बारे में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) की शिकायत पर एक FIR दर्ज की थी, जिसमें उस पर आरोप है कि उसने अपने स्टेज पर बाल पोर्नोग्राफी तक पहुंच की इजाजत दी है. पुलिस ने कहा कि भारतीय दंड संहिता, यौन अपराधों से बच्चों की सुरक्षा कानून (POCSO) और सूचना प्रौद्योगिकी कानून की संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है.

Twitter पर पोर्नोग्राफिक कंटेंट को लेकर महिला आयोग सख्त, एक सप्ताह में एक्शन की मांग

बंगाल में जंगलराज, हिंसा की जांच करने पहुंची मानवाधिकार की टीम पर ही हुआ हमला

DGCA ने लिया अहम फैसला, 31 जुलाई तक बढ़ाया अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -