जुड़वां बच्चो का जन्म, दो जिस्म लेकिन एक लिवर

जुड़वां बच्चो का जन्म, दो जिस्म लेकिन एक लिवर

आगरा। कहते है की जुडवा बच्चो का जन्म घर में खुशियां लेकर आता है लेकिन आगरा में प्रदीप और मोहिनी के घर जन्मे जुड़वां बच्चो से परेशानी बढ़ गई है. दरअसल मजदूरी करके अपनी जीविका चलाने वाले प्रदीप की पत्नी मोहिनी ने आगरा के जयदेवी हॉस्पिटल में जुड़वां बच्चो को जन्म दिया. बच्चो के सभी अंग तो सामान्य है लेकिन दोनों का लिवर एक है.

डॉक्टरों का कहना है की अगर बच्चो का जिन्दा रहना है तो 34 हफ्तों के भीतर ही ऑपरेशन करना होगा. लेकिन प्रदीप के पास इतना पैसा नहीं है कि वह अपने बच्चो की‍ जिंदगी खरीद सके. अब उसे सिर्फ सरकार पर भरोसा है ताकि बच्चो का ऑपरेशन हो सके.

हालांकि डॉक्टरों ने बच्चों और मां को खतरे से बाहर बताया गया, लेकिन बच्चों का शरीर आपस में जुड़ा हुआ है और वे दोनों एक ही गुर्दे के सहारे जीवित है. जानकारी के मुताबिक बच्चों का ऑपरेशन दिल्ली के एम्स में या फिर सर गंगाराम अस्पताल में हो सकता है.