टीवी: अपराध का ग्लैमरस संस्करण

Oct 31 2018 06:56 PM
टीवी: अपराध का ग्लैमरस संस्करण

देश में यूं तो हमेशा कानून व्यवस्था को कोसा जाता है। हमेशा लचर कानून व्यवस्था को लेकर  लोग मजाक उड़ाते हैं और ​पुलिस को कोसते हैं। हाल ही में सीबीआई में जिस तरह से मतभेद उभर कर आए हैं, उसे लेकर भी कई तरह के जोक किए  जा रहे हैं। कानून का यह रूप लोगों को आश्चर्य कर देने वाला है। लेकिन एक जगह ऐसी भी हैं, जहां अपराध इतना ग्लैमरस होता है कि लोगों का अपराध करने का मन करने लगे। 

अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसी जगह कौन सी है, तो वह है टीवी।  टीवी पर जिस तरह से अपराध होते हैं, उनकी चकाचौंध देखकर तो अच्छा—भला इंसान भी अपराधी बनने की ओर प्रेरित हो जाए। इतना ही नहीं कानून के रखवाले भी इतने चौकस होते हैं कि लगता है पूरी दुनिया में कानून अपना काम बहुत अच्छी तरह से कर रहा है। अब ऐसी खबरें आ रही है कि कानून का एक बड़ा रखवाला टीवी से विदा हो रहा है। दो दशक बाद एसीपी प्रद्युमन अब टीवी पर नहीं दिखेंगे। दया और अभिजीत भी गायब होंगे, लेकिन आप परेशान  न हों। टीवी का ग्लैमरस अपराध आपका मनोरंजन करेगा। 

अभी एक चैनल की पूरी टीआरपी उसके क्राइम शो पर आधारित है। इस क्राइम शो में प्रेम त्रिकोण के  इतने एपीसोड आते हैं कि लगता है कि पूरी दुनिया में ही प्रेम त्रिकोण निवास कर रहा है। अभी एक शो आया, एक मजदूर की पत्नी को दूसरे मजदूर से प्रेम  हो गया।  जब मजदूर को यह पता चला, तो उसने दोनों की हत्या कर दी। अब खेतों में मजदूरी करने वाले प्रेमी और प्रेमिका का फोटो अखबार में छपा, तो प्रेमी बीमार लग रहा था। लेकिन जब इस पर शो बना, तो प्रेमी बहुत हैंडसम लग रहा था और प्रेमिका ऐसी लग रही थी जैसे हमेशा पार्लर में जाकर मेकअप कराती हो। अब इतना ग्लैमरस अपराध होगा, तो किसका मन नहीं चाहेगा कि वो अपराधी ही बन जाए। 

अगर टीवी की बात करें, तो टीवी तो सब कुछ कर देता है। अपराध को ग्लैमरस, अपराधी को  हीरो बना देता है। अब एसीपी प्रद्युमन जा रहे हैं, तो हो सकता है कि उनकी जगह कोई प्रेम त्रिकोण ले ले। तो फिर चलिए इंतजार कीजिए अपराध के एक और ग्लैमरस संस्करण का... 

तीखे बोल

नई जॉब: रोटी-सब्जी फैशन डिजाइनर