गीता पर हाथ रख शपथ लेने वाली अमेरिकी हिन्दू सांसद, अब लड़ेगी US का राष्ट्रपति चुनाव

Jan 12 2019 09:00 AM
गीता पर हाथ रख शपथ लेने वाली अमेरिकी हिन्दू सांसद, अब लड़ेगी US का राष्ट्रपति चुनाव

वॉशिंगटन: अमेरिका की पहली हिंदू सांसद तुलसी गेबार्ड 2020 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवारी भर रही हैं. तमाम कयासों पर विराम देते हुए गेबार्ड ने यह साफ़ कर दिया है कि वे 2020 का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव लड़ने वाली हैं. अमेरिकी सीनेट में हवाई का प्रतिनिधित्व करने वाली डेमोक्रेट सांसद तुलसी बेबार्ड ने मीडिया को बताया है कि, 'मैंने तय कर लिया है कि मैं राष्ट्रपति चुनाव लड़ूंगी, अगले हफ्ते इसकी आधिकारिक घोषणा भी कर दी जाएगी.'

बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रही मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर? इस डायरेक्टर के साथ करेंगी काम

गेबार्ड के 2020 राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के पहले से इस बात के अनुमान लगाए जा रहे थे, पिछले महीने भी गेबार्ड ने इसके संकेत दे दिए थे. गेबार्ड के इस बयान के बाद अब तस्वीर स्पष्ट हो गई है कि वे 2020 में चुनावी मैदान में अपना दमखम दिखाती दिखाई देंगी. गेबार्ड के इस ऐलान के बाद आपको यह जानना आवश्यक है कि, अमेरिका के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब किसी हिंदू को अमेरिका की किसी पार्टी की ओर से राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवारी मिलेगी.  वहीं अगर गेबार्ड 2020 का राष्ट्रपति चुनाव में जीत दर्ज करती हैं, तो वे अमेरिका की प्रथम महिला और सबसे युवा राष्ट्रपति होंगी.

ये हैं वो अजीब मंदिर जिनके बारे में सुनकर आप भी हो जायेंगे हैरान

आपको बता दें कि तुलसी गेबार्ड हिंदू जरूर हैं, लेकिन वे भारतीय मूल की नहीं है. तुलसी गेबार्ड का जन्म अमेरिका के समोआ में एक कैथोलिक परिवार के घर हुआ था. उनकी मां कॉकेशियन हैं, जिन्होंने बाद में हिंदू धर्म अपना लिया था. तुलसी दो साल की थीं, तब वे अपनी माँ के साथ हवाई आकर रहने लगीं और बाद में उन्होंने भी हिंदू धर्म अपना लिया. तुलसी पहली ऐसी अमेरिकी सांसद हैं, जिन्होंने भगवत गीता को हाथ में लेकर शपथ ग्रहण की थी. 

खबरें और भी:- 

 

अंतरिक्ष में भी दिखने लगा अमेरिकी शटडाउन का असर

अमेरिका दीवार विवाद : राशि ना मिलने से नाराज ट्रंप ने बीच में छोड़ी बैठक

विश्व हिंदी दिवस : हर भारतीय के मन की आवाज 'हिंदी', अमेरिका से लेकर जर्मनी तक जमा रखी है धाक