मंगल दोष या मंगली का उपाय

जिनकी राशि में मंगल शुभ नहीं है उनके लिए हम कुछ उपाय बता रहे हें. इन उपायों को अपनाने से मंगल शुभदायक हो जाएगा और व्यवसाय बढेगा:

 --- मंगल की शांति के लिए मंगल का दान करें. लाल रंग का बैल, सोना, तांबा, मसूर की दाल, बताशा, लाल वस्त्र आदि किसी गरीब जरुरतमंद की दें.


--- मंगल के मन्त्र का नित्य जाप करें 


---मंगलवार को उपवास रखें.


--- मंगलवार के दिन किसी गरीब को खाना खिलाएं.


--= मंगलवार के दिन अपने भाई बहनों को कुछ उपहार दें.


--- मंगल हमारे शरीर के रक्त में स्थित माना गया है.

ऐसा खाना खाएं जिससे रक्त शुद्ध बना रहे.


--- जिस पर भी मंगल का प्रभाव है वह व्यक्ति क्रोधी और चिडचिडा हो जाता है. ऐसा प्रयत्न करें की क्रोध हावी न हो.


--- लाल बैल दान करें.


--- मंगल मात्रभ्क्त होता है. वह सभी माता-पिता की सेवा करने वाले पर खास दर्ष्टि रखता है. इसलिए मंगलवार के दिन अपनी माता को लाल रंग का उपहार दें.


--- मंगल से संबंधित कोई भी वस्तु उपहार में न लें.


--- मंगल का प्रिय रंग लाल है. मंगलवार को लाल रंग का खाना खाएं जैसे कि इमरती, मसूर की दाल, सेब आदि.


--- कुंडली में ग्रहों के मेल से मंगल दोष का निवारण न हो रहा हो तो व्रत और अनुष्ठान के द्वारा मंगल दोष का निवारण करें. मंगला गौरी और सावित्री का व्रत सौभाग्य प्रदान करता है. अनजाने में मंगली कन्या का विवाह इस दोष से रहित वर से हो जाता है तो दोषों को दूर करने के लिए यह अनुष्ठान लाभ देता है. 


--- यदि कन्या की कुंडली में मंगल दोष है वह अगर विवाह से पहले कुएं या पीपल के पेड़ से विवाह कर ले और फिर मंगल दोष से रहित वर के साथ शादी कर ले तो दोष नहीं लगता है.


--- यदि कन्या विष्णु प्रतिमा से विवाह करने के बाद विवाह करती है तो भी इस दोष का निवारण हो जाता है. 


--- मंगलवार के दिन व्रत रखकर हनुमान जी की पूजा करने से और हनुमान चालीसा का पाठ करने से यह दोष शांत हो जाता है.


--- कार्तिकेय जी की पूजा करने से भी लाभ मिलता है.


--- महाम्र्तुन्जय का जाप करने से सब बाधाओं का नाश हो जाता है. इस मन्त्र द्वारा मंगल ग्रह को शांत करने से भी मंगल दोष का प्रभाव कम होता है.


--- लाल रंग के वस्त्र में मसूर दाल, रक्त चंदन, रक्त पुष्प, मिठाई और द्रव्य लपेटकर बहते पानी में प्रवाहित करने से अमंगल दूर होता है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -